BKP Logo BKP BKP
   Alerts
BKP Alert (28-October-2016)

"सभी साथियों को नमस्कार,


आज अलर्ट के रूप में हम आपसे साँझा कर रहे है झाँसी जिले की पुनावली कलां गाँव की एक केस स्टडी । ग्राम पुनावली कलां ब्लाक बबीना, जिला झाँसी में सन २००३ में पेयजल समस्या के निदान हेतु स्वजल परियोजना के तहत पाइपलाइन व्यवस्था चालू करवाया गया था जिसका संचालन समग्र जल विकास समिति द्वारा किया जाता था . पर ये व्यवस्था २०१० तक चलने के बाद defunct हो गया था. शुद्ध पेयजल की कमी से परेशान समुदाय ने, Development Alternatives के सहायता से २०१५ में इस पाइपलाइन प्रणाली को पुनः चालू करवाने का निर्णय लिया . कई दफा चर्चा करने के बाद यह तैर हुआ के प्रणाली के संचालन की जिम्मेदारी अब महिला फेडरेशन को दिया जायेगा एवं इस व्यवस्था को पुनः चालू करने में जो भी खर्चा आयेगा वो समुदाय ही देगी . १५ अगस्त २०१५ को इस पाइपलाइन प्रणाली का उद्घाटन हुआ जो आज तक सफलतापूर्वक चल रहा है. केस स्टडी में इसी सफलता की कहानी बर्णित है .

workshop  CS_Community led Water supply model of Punawli kalan



BKP Alert (15-August-2016)

"सभी साथियों को नमस्कार,


आज अलर्ट के रूप में हम आपसे साँझा कर रहे है दमोह जिले की एक रिपोर्ट । दमोह, बुंदेलखंड की वो जिला है, जहाँ पुरे साल की बारिश की ९१ प्रतिशत सिर्फ मानसून के चार महीने में प्राप्त हो जाती है । इस रिपोर्ट के जरिये जाने, किस तरह watershed management और फसल विविधता के तरीकों अपना कर दमोह के किसानो ने सरकार के साथ मिल कर खेती करने की तरीकों में एक क्रांति लाने की कोशिस में जुटे है ।

workshop  The Rural

आपका,
Nemani

BKP Alert (02-June-2016)

Dear All,


Please see an article on Women's empowerment in SDG implementation. In this article, Ms. Dharmistha Chauhan, Strategic Advisor, Mahila Housing Trust highlights the challenges in the tracking of the SDGs themselves and discusses a modified three track SDG and gender monitoring framework that is being suggested for tracking the gender commitments of the SDGs. The article was published in Development Alternative's Newsletter.

  Tracking Women’s Empowerment in SDG Implementation


Dist Block
Banda Bisanda, Kamasin, Tindwari
Jhansi Chirgaon, Mauranipur, Moth, Bamaur
Lalitpur Birdha, Mahraouni, Madawara
Hamirpur Rath, Kurara, Maudah
Jalaun Kuthond, Mahewa

​For implementation of the programme in these areas selection of suitable Implementation Partners (IP) is on progress. Interested CSOs can contact and send their profile to
mtripathy@devalt.org

BKP Alert (23-February-2016)

"सभी साथियों को नमस्कार,


बुंदेलखंड ज्ञान मंच की तरफ से आप सभी का अभिवादन. जैसा की पिछले कुछ समय से इस कार्यशाला का समन्वय डेवलपमेंट ऑलटरनेटिव्स के आलावा अन्य साथियों द्वारा भी किया जा रहा है. इस बार इस समन्वय की जिम्मेदारी हमने अर्थात ग्रीनसिंक सॉल्युशंस ने ली है. इस क्रम में आप सभी आमंत्रण के साथ संभावित एजेंडा भेजा जा रहा है. इस कार्यशाला को अधिक प्रभावी बनाने के लिए हम इस बार प्रयास कर रहे हैं कि कुछ चुने हुए मुद्दों पर परियोजनाओं की संभावनाओं को तलाशा जाये जिससे की हम अपने प्रयासों द्वारा अपने लक्षित समुदाय को अधिकतम लाभ पहुंचा सकें. इस क्रम में आप सभी को दो दिवसीय कार्यशाला (फरवरी 29 - मार्च 1 , 2016) में आप सभी को आमंत्रित करते हुए हर्ष हो रहा है. साथ ही आपसे आशा है की इस कार्यशाला में भाग लेकर और अपने अनुभवों से सम्रद्ध हम इस कार्यक्रम को सफल बना पाएंगे.
अंत में पुनः आप सभी से कार्यशाला में भाग लेने के अनुरोध के साथ

Invitation letter  Invitation Letter BKP Workshop
workshop  Agenda_BKP workshop

आपका,
सोनल कुलश्रेष्ठ
On Behalf of Bundelkhand Knowledge Platform"
BKP Alert (23-February-2016)

Dear All,


This is to inform you all that the next BKP workshop is scheduled on 29 Febuary and 1 March 2016 and this time Greensync Solution is going to anchor the same. We request your participation in the workshop, which will focus on mapping of opportunities for Business Development in Bundelkhand and thus identification & finalization of some potential concepts/ packages for submission to different agencies (like NABARd, Corporates etc.). The venue and agenda of the workshop will be shared with you by tomorrow by Greensync Solution. Please confirm your participation.
Click on the below links to have information regarding the scenario of rural economic growth in India and the focus on this year's Budget:

Budget likely to focus on rural-economy schemes to blunt farm crisis
Towards more equitable economic growth of districts
Thanks & Regards,
Mohua Tripathy
BKP Alert (05-February-2016)

सभी साथियों को नमस्कार।


सबसे पहले आप सभी को बसंत पंचमी की हार्दिक शुभकामनाएं।

अलर्ट भेजने में देरी के लिए हम माफ़ी चाहते है। आज अलर्ट के रूप में हम आपके साथ एक बड़ा ही संवेदनशील लेख साँझा कर रहे है।
संवेदनशीलता, गरीबी और प्रभावी शमन रणनीतियों की कमी के बीच लगातार सूखे के कारण बुंदेलखंड हाल ही में एक नया हॉटस्पॉट (hotspot) के रूप में सामने आया है। 2014 में जबकि सूखे की वजह से इस क्षेत्र में खरीफ फसल विफल रहा, वही 2014-15 में ओलों तूफान और बेमौसम बारिश से रबी की फसल भी नष्ट हो गया था। यह लगातार तीसरी विफलता थी। 2015-16 में भी बारिश की कमी के कारण किसानों ने फसल की परिपक्व न होने की संभावना की डर से रबी की बुबाई नहीं किये और इस तरह बुंदेलखंड के लोग लगातार चौथी बार सूखे की प्रभाबों का सामना करने वाले है। The study reveals that if it does not rain this year and urgent preventive measures are not taken by the centre and states, the region would soon face the worst-ever famine. इस लेख में ग्रामीण बुंदेलखंड के वो वास्तविक facesheet दर्शाया गया है जो बुंदेलखंड क्षेत्र में कार्य कर रहे हर एक संस्था अक्सर महसूस करते है।
निचे दी गयी लिंक पर क्लिक करके इस आर्टिकल को पढ़िए और अपनी बिचार जरूर साँझा करिये।

http://www.governancenow.com/news/regular-story/bundelkhand-verge-worst-ever-famine
धन्यवाद
आपकी साथी
महुआ त्रिपाठी
BKP Alert (08-October-2015)

सभी साथियों को नमस्कार।


आज अलर्ट के रूप में हम साँझा कर रहे है शिवा ग्रामोद्योग सेवा संस्थान द्वारा प्रस्तुत पिछले 06 जनवरी 2016 को IGFRI में आयोजित "प्राकृतिक कृषि एवं ग्रामीण अर्थव्यवस्था की बुंदेलखंड स्तरीय कार्यशाला​"​ ​की रिपोर्ट । उन्नत भारत अभियान के अनर्गत इस कार्यशाला में IGFRI, KVK, कृषि विभाग के प्रतिनिधियों एवं बुंदेलखंड में कार्यरत 25 NGOs के साथ साथ कई किसानो ने भी भाग लिया। हम आशीष जी को कार्यशाला का संक्षिप्त रिपोर्ट साझा करने के लिए धन्यवाद देना चाहते हैं।

NOTE:

See the below message and contact (as given below) if found suitable.
If you have come across any bright students coming from poor financial background who have finished their 10th standard this year and scored more than 80%, please ask them to contact the NGO - Prerana (Supported by Infosys foundation).
The NGO is conducting a written test and those who clear the test will be eligible for financial help for their further studies.
Please ask the students to contact the people mentioned below to get
the form:
580, Shubhakar, 44th cross,
1st A main road,
Jayanagar, 7th block,
Bangalore.
Contact numbers:
1. Ms. Saraswati - 99009
06338
2. Mr. Shivkumar - 99866 30301
3. Ms. Bindu - 99645 34667
Even if you don't know
anyone, please pass on this info, someone might be in need of this.www.infosys.com/infosys-foundation

धन्यवाद
आपकी साथी
महुआ त्रिपाठी
BKP Alert (08-October-2015)

सभी साथियों को नमस्कार।


हमें आपको यह सूचित करते हुए बहत खुसी हो रही है के इस साल के तारग्राम मेला 8 अक्टूबर 2015 को तारग्राम ओरछा में आयोजित किया जा रहा है। तारग्राम मेला 2015 का विषय है बुंदेलखंड में स्थायी आजीविका के साधन से सम्बंधित विकास कार्यो को प्रदर्शित करना। जिसके द्वारा बुंदेलखंड में कार्यरत संस्थायें तथा समुदाय उल्लिखित बिषय पर किये गए अपने प्रयासों को दर्शा सकती है।

स्टाल लगाने कि तथा मेला सम्बंधित अधिक जानकारी के लिए सम्पर्क करें (91)7752936618 (Naheeda Shaikh) इस नंबर पर या ई मेल करें nshekh@devalt.org पर।

Invitation letter  Invitation letter
Concept Note  Concept Note

धन्यवाद
आपकी साथी
महुआ त्रिपाठी
BKP Alert (23-September-2015)

सभी साथियों को नमस्कार।


हम आपको यह सूचित करते है के बुंदेलखंड ज्ञान मंच की अगली तिमाही कार्यशाला 26 सितम्बर 2015 को आयोजित किया जा रहा है। पहले कार्यशाला में किये गए निर्णय के अनुसार इस कार्यशाला का आयोजन SGSS एवं SKSS संयुक्त रूप से कर रहे है। कार्यशाला का बिषय रहेगा " Sharing of experiences in improving sustainable livelihoods through climate resilient practices"। कार्यशाला का आयोजन स्थल केंद्रीय कृषि वानिकी अनुसंधान संस्थान (CAFRI) के कांफ्रेंस हॉल रखा गया है। कार्यशाला के एजेंडे शीघ्र ही आप के साथ साझा किया जाएगा।

This will be an one day workshop, from 10 am to 5 pm. Accommodation will be arranged, based on the confirmation received from the partners. So please confirm your participation and share me your travel plan at the earliest. I will e-mail the other details regarding the workshop shortly.

Looking at your valuable suggestions and participation.
धन्यवाद
आपकी साथी
महुआ त्रिपाठी
BKP Alert (22-August-2015)

सभी साथियों को नमस्कार।
Sharing below a study of UN on Progress on Sanitation and Drinking Water: 2015 in India.
http://www.thehindu.com/news/national/india-has-made-progress-in-reducing-open-defecation-rates-un/article7373732.ece

आंकड़ों के हिसाब से 94% भारतवासी तक साफ़ पानी की पहुंच है और शौचालय की स्थिति में भारत सहस्राब्दी विकास लक्ष्य को बस छूने ही वाले है। यह रिपोर्ट के मुताबिक पिछले 20 सालो में भारत में खुले में शौच के घटनाएँ 31 फीसदी कम हुआ है। लेकिन वास्तविकता आँकड़ों के विपरीत चित्रण दर्शाता है। विशेष रूप से बुंदेलखंड में स्थिति और भी खराब है, करीब 80% लोग के पास अभी भी शौचालय की सुबिधा उपलब्ध नहीं है। This abysmal state of sanitation has an adverse impact, especially on women's health, safety and dignity. Click on the below given link to see a video documentation on "India's sanitation crisis: Women worse victims of poor sanitation".

http://www.ndtv.com/video/player/banega-swachh-india/india-s-sanitation-crisis-women-worst-victims-of-poor-sanitation/341224



इस मुद्दे पर यह प्लेटफार्म में काफी चर्चा भी हुआ है। पर बुंदेलखंड की विकास के लिए अब जरुरत है कुछ ठोस कदम उठाने की। इस मंच में साँझा करें अपने अपने क्षेत्र में आपके द्वारा किया जा रहा हर वो प्रयास। And thiswould help to develop an integrated approach which will again help in chalking out a sustainable path of development for Bundelkhand.
Also find attached a report on the I-Day 2015 celebration by DA in Bundelkhand.

सुझाव या ऐसी ही कोई जानकारी भेजने के लिये निम्नलिखित आईडी पर इ-मेल करें। bundelkhand.knowledge.platform@devalt.org & bkpalert@devalt.org

BKP Case Study Haritika  I-day'15 celebration in Bundelkhand

धन्यवाद
आपकी साथी
महुआ त्रिपाठी
BKP Alert (21-July-2015)

सभी साथियों को नमस्कार।
कहा जाता है के छात्रों देश का भविष्य है और शिक्षक उसके मुख्य निर्माता। संलग्न वीडियो क्लिपिंग्स में देखिये किन हाथों में है हमारे देश का भविष्य। गॉवों के छात्रों शिक्षा के लिये पुरी तरह सरकारी स्कूलों पर निर्भर करतें है। बुनियादी ढांचे, सुविधाओं और स्टाफ की कमी के साथ साथ अगर सरकारी स्कूलों में शिक्षण की गुणवत्ता ऐसा हो तब तो डिजिटल भारत के लिये मोदी जी के सपने कभी साकार नहीं हो पायेगा। यह कहानी सिर्फ उत्तर प्रदेश या बिहार का नहीं, पुरे देश का है। मध्य प्रदेश, छतीशगढ, पश्चिम बंगाल, हरयाणा, पंजाब - हर राज्य की सरकारी स्कूलों में प्राइमरी और माध्यमिक शिक्षा का यही हाल है।
इसके लिये तत्काल कार्रवाई और जागरूकता आवश्यक है।

सुझाव या ऐसी ही कोई जानकारी भेजने के लिये निम्नलिखित आईडी पर इ-मेल करें।
bundelkhand.knowledge.platform@devalt.org & bkpalert@devalt.org

videos देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक्स को क्लिक करें :

https://youtu.be/X6TX1_McsLU

https://youtu.be/cXcoFv867r8

https://youtu.be/VC7_MTIbmSc

धन्यवाद
आपकी साथी
महुआ त्रिपाठी
BKP Alert (14-July-2015)

सभी साथियों को नमस्कार।
पानी की गंभीर समस्या से कुपोषण, पलायन, मौत और कई अन्य मुद्दों से त्रस्त बुंदेलखंड के ऊपर प्रस्तुत है Zee Sangam की एक प्रदर्शन।
इन मुद्दों के साथ साथ कई गांवों में पानी की कमी, शादी की उम्रवालें लड़कों के जीवन को कैसे प्रभावित कर रहा है उस पर भी प्रस्तुत है छोटा सा एक रिपोर्ट। मौजूदा पानी की समस्या के लिए यहाँ किसी भी परिवार में लोग अपनी बेटी की शादी नहीं करना चाहते।

आप भी अपने क्षेत्र से जुड़े ऐसे ही कुछ मुद्दों को साँझा कर सकते है हमारे साथ।

videos देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक्स को क्लिक करें :

https://youtu.be/fMWjfzpz0Uw

http://zeenews.india.com/news/videos/top-stories/water-scarcity-hampers-marriage-prospects-of-boys-in-bundelkhand-up_1590075.html



आशीष जी और के के चतुर्वेदी जी,
आप से निवेदन है के अगस्त में होनेवाले वर्कशॉप की बारे में आप लोगो ने क्या निर्णय लिया वो साँझा करें। किस थीम पर वर्कशॉप होना है उसपे भी आप लोगो की सुझाब जल्द से जल्द भेजे।

Waiting for early response from you all.
BKP Alert (27-June-2015)

सभी साथियों को नमस्कार।
इस अलर्ट में हम साँझा कर रहें है 28-29 मई को तारग्राम ओरछा में आयोजित किया गया वर्कशॉप की रिपोर्ट।
इस के साथ संलग्न है परहित समाज सेवी संस्था द्वारा साँझा किया गया एक स्टडी। समग्र स्वच्छता अभियान के तहत इस संस्था ने कैसे एक औरत और उनकी बूढी माँ के जीबन में खुशाली लाये उसी पर आधारित है यह लेख। हम आपको यह भी बताना चाहेंगे के बुंदेलखंड ज्ञान मंच की अगला वर्कशॉप कराने की जिम्मेदारी हमारी साथी के.के.चतुर्बेदी जी एवं आशीष पुरोहित जी ली है जो की अगस्त में आयोजित किया जायेगा। इस कार्यशाला का विषय क्या रहेगा इस पर आपकी सुझाव अवश्य भेजें। और हमने आपसे sectoral analysis की जो दस्ताभेज साँझा की थी उस पर भी अपने विचार जोड़ कर जल्द से जल्द e-mail करें।

उसी के आधार पर ही हम advocacy note बना पायेंगे।

BKP Case Study Haritika  Report of the workshop on Local governance_Hindi

BKP Case Study Haritika  Case Study of Bimla Bai_by Parhit Samaj



धन्यवाद
आपकी साथी
महुआ त्रिपाठी
BKP Alert (22-May-2015)

सभी साथियों को नमस्कार।
1990 के दशक में 73 वें संविधान संशोधन, प्रशासन और देश की प्रशासनिक व्यवस्था की एक मौलिक पुनर्गठन को इंगित करता है जो विकेन्द्रीकरण और सामूहिक शक्ति पर आधारित है। 73 वें संविधान संशोधन परवर्ती चरण में विकेन्द्रीकृत ग्रामीण स्व-शासन को मजबूत बनाने की पहल में मध्य प्रदेश एक अग्रणी राज्य है । मध्य प्रदेश राज्य सरकार ने वर्ष 2001-02 से विकेन्द्रीकृत नियोजन प्रक्रिया शुरू की, जिसका लक्ष्य था राज्य भर में साम्यिक रूप से आर्थिक और सामाजिक विकास को सुनिश्चित करना। आज अलर्ट में प्रस्तुत है मध्य प्रदेश में विकेन्द्रीकृत और एकीकृत योजना पर एक आधार पत्र । यह प्रपत्र मध्य प्रदेश के जिला विकेन्द्रीकृत नियोजन प्रक्रिया की मुख्य विशेषताएं, विभिन्न स्तर पर चुनौतियों और अभिसरण के लिए सिफारिशें पर प्रकाश डालता है। उम्मीद करतें है यह दस्तावेज़ विकेन्द्रीकृत नियोजन प्रक्रिया को अच्छे से समझने के लिए आप की मददगार साबित होगी ।
Here I would like inform you that the workshop has finally been scheduled on 28th & 29th May 2015. The venue will be TARAgram Orchha only, I am sorry as I couldn't manage to organize the same outside Orchha (as previously mentioned in Khajuraho). As i mentioned earlier the theme will be "Local Governance". I'll share the agenda and the background note by Monday. Request you to make this event successful with your precious presence.

The attached document for DDP-WORKING PAPER is below:

BKP Case Study Haritika  DDP-WORKING PAPER



धन्यवाद
आपकी साथी
महुआ त्रिपाठी
BKP Alert (04-April-2015)

सभी साथियों को नमस्कार।
मौसम के आकस्मिक बदलावों के हिसाव से किसानो को तैयार रहने के लिए जो जानकारी सोनल जी ने पिछले मेल में दिए थे उसी की continuation में, आज के अलर्ट में हम साँझा कर रहे खरीफ फसलों के लिए कुछ Package of Practices (POPs). Hopefully this will help you to building understanding and capacities of the farmers of your respective intervention areas towards adoption of appropriate techniques to deal with the changing climate.

The attached document are on the POPs of Ground nut & Chickpea.
For more information on other crops please click the below:
Package of Practices

BKP Case Study Haritika  POPs_Kharif crops (GN & Chickpea)



धन्यवाद
आपकी साथी
महुआ त्रिपाठी
BKP Alert (24-Mar-2015)

सभी साथियों को नमस्कार।
आज अलर्ट के रूप में संलग्न है हमारी साथी हरीतिका का एक केस स्टडी। Haritika, जल संरक्षण और प्रबंधन के क्षेत्र पर बुंदेलखंड में काम कर रहे अग्रणी संगठनों में से एक है। बुंदेलखंड के सामाजिक और आर्थिक उन्नति के समग्र मिशन के साथ विभिन्न हितधारकों से भागीदारी, नेटवर्किंग और सहयोग के माध्यम से, Haritika पिछले 5 वर्षों से छतरपुर जिले में समन्वित जल संसाधन प्रबंधन पर सफलतापूर्वक विविध काम कर रहे है। छतरपुर के पटना गांव की ये केस स्टडी इसी बात को दर्शाता है।

We would like to thank Haritika for sharing this experience with us.To know more about Haritika please click on the website link below: haritika.org.in

BKP Case Study Haritika  BKP Case Study Haritika



धन्यवाद
आपकी साथी
महुआ त्रिपाठी
BKP Alert (05-feb-2015)

सभी साथियों को नमस्कार।
आज अलर्ट में जानिए SRI तकनीक और इस तकनीक का इस्तेमाल बुंदेलखंड की किसानो के लिए कैसे फायदे मंद हो सकता है उस के बारे में। बुंदेलखंड जैसे सुखा पीड़ित क्षेत्र में SRI तकनीक को अपनाने से किसान कम पानी वाली खेती \ रके कैसे ज़्यादा पैदावार ले सकते है । साथ में संलग्न है WWF की एक रिपोर्ट ।

इस के साथ संलग्न है हमारी साथी महोबा की अरुणोदय संस्थान द्वारा प्रकाशित किया गया एक केस स्टडी जो ये दर्शाता है के जल संरक्षण की तकनीक अपनाने से वहां के किशानो को कैसा फायदा हुआ ।

Case study Arunoday-Mahoba  Case study Arunoday-Mahoba



WWF_Rice_Report  WWF_Rice_Report



धन्यवाद
आपकी साथी
महुआ त्रिपाठी
BKP Alert (28-jan-2015)

Sharing here with you all the EPA training module on Agriculture Management Practices for Water Quality Protection. This module focuses on agricultural Best Management Practices (BMPs) that are suitable for minimizing water quality impacts and increasing environment protection. This can be used as an essential tool for a comprehensive watershed protection approach which in other terms provides local communities with a realistic approach for maintaining a quality environment for future generations. The module highlights techniques that reduce environmental impacts.
As water quality and watershed management are the two key focus areas of most of us, working in Bundelkhand, so hope this module will help us a lot to understand the challenges and to adopt best practices accordingly.
Along with this alert I would also like to take this opportunity to invite you for your participation in an One day workshop, which is going to be held on 29th January 2015 at TARAgram Orchha on the theme of WASH (Water, Sanitation and Hygiene). The objective of the workshop will be to promote dialogue and information on safe water, sanitation and hygiene practices through participatory approach. In this occasion we would like to request you to share your experience and learning of working in this sector to enrich our knowledge.

Invitation letter Partners  Invitation letter Partners 29 Jan



धन्यवाद
आपकी साथी
महुआ त्रिपाठी
BKP Alert (23-nov-2014)

सभी साथियों को नमस्कार।
दिनांक २३ एवं २४ नवंबर को बाँदा में बुंदेलखंड की बढ़ती हुई समस्यायों पर चर्चा एवं उसके समाधान की राह खोजने के प्रयास हेतु एक संगोष्ठी का आयोजन किया गया था। इस संगोष्ठी में उत्तर प्रदेश - बुंदेलखंड की विशिष्ट हस्तियों ने भाग लिया, जिनमे शामिल थे विभिन्न संस्थाओं के प्रतिनिधि, सामाजिक पत्रकारों, प्रगतिशील किसानों, शिक्षकों और वर्तमान एवं पूर्व प्रशासनिक अधिकारियों। हमारी श्रद्धास्पद साथी डॉ. भारतेन्दु प्रकाश इस कार्यक्रम के संचालन में मुख्य भूमिका निभायी। विचार विमर्श के लिए मुख्य रूप से जल संरक्षण, जैविक खेती, जलवायु अनुरूप कृषि प्रथाओं, उत्पादकता वृद्धि, ग्रामीण विकास और प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन पर ध्यान केंद्रित किया गया। अधिक जानकारी के लिए संगोष्ठी की संक्षिप्त रिपोर्ट इस अलर्ट के साथ संलग्न है।

We would like to thank Dr Prakash for sharing this report with us.

Note: Mid January में हम एक BKP कार्यशाला आयोजित करना चाहते है। इसकी तारीख और जगह तय करने के लिए हम आपसे सुझाव चाहते है। इसके अतिरिक्त हम आपसे इस कार्यक्रम की एक tentative agenda की रूपरेखा बनाने की अनुरोध करते है।

Report of Banda Seminar  Report of Banda Seminar 23-24 Nov



धन्यवाद
आपकी साथी
महुआ त्रिपाठी
BKP Alert (22-Sep-2014)

सभी साथियों को नमस्कार।
हम अक्सर यह सोचते है के प्रमुख निवेश या बड़े बजट की प्रोजेक्ट की मदद से सामाजिक और पर्यावरण के क्षरण को कम किया जा सकता है। बुंदेलखंड के प्रतिकूल पर्यावरण की स्थिति में सुधार लाने के लिए कितने राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय बड़ी परियोजनाएं आवंटित किया जाता है। पर क्या यह परियोजनाएं बुंदेलखंड के लोगों को लंबे समय तक राहत देने में सक्षम रहें ?
सायद नही।
पेश है ललितपुर जिला की एक रिपोर्ट जो यह दर्शाता है के उच्च लागत की परियोजनाओं भी कई प्रतिकूल सामाजिक तथा पर्यावरणीय दुष्प्रभाव ला सकते है। मैं आप सबको यह बताते हुए बहत ख़ुशी महसूस कर रही हूँ के इस मामले का अध्ययन करने के लिए जो टीम बनाया गया था, उसमे हमारे ही कुछ साथी शामिल थे। हम उन्हें बधाई देते हैं।
इस रिपोर्ट से यह लर्निंग मिलती है के बेहतर योजना और अच्छा पारंपरिक प्रथाओं कैसे करोड़ों रूपया बचाने और पर्यावरण एवं लोगों को सुरक्षा देने में मददगार हो सकता है।

Irrigation and Water Systems in Lalitpur  Irrigation and Water Systems in Lalitpur District of Bundelkhand



धन्यवाद
आपकी साथी
महुआ त्रिपाठी
BKP Alert (06-Sep-2014)

सभी साथियों को नमस्कार।
आज अलर्ट में हम चर्चा करते है महिला सशक्तिकरण बिषय पर।
एक नारी के कई रूप है - कभी वो एक माँ के रूप में बच्चोके सृजन एवं पालन पोषण, एक बहन के रूप में रक्षा, एक बेटी के रूप में संस्कारों का सम्बाहन करना, एक पत्नी के रूप में परिवार के निर्माण तथा एक नैत्री के रूप में समाज को एक दिशा प्रदान करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाती है।
संस्कृत में एक श्लोक है - 'यस्य पूज्यंते नार्यस्तु तत्र रमन्ते देवता: (भावार्थ- जहां नारी की पूजा होती है, वहां देवता निवास करते हैं)। किन्तु आज की समाज कहीं न कहीं नारी की इस सम्मान को अवमानना करते हैं। नारी की अपमान की घटनाएं अब हरदिन हमारे सामने आते है - कभी अख़बार के जरिये, कभी टीवी - रेडियो के जरिये, कभी इंरनेट के जरिये या फिर कभी अपने सामने होते हुए घटनाओं के जरिये। सोचना ये है के हम कैसे समाज की सोच बदलकर नारी की गरिमा का पुनस्र्ज्जीवन करें।
पेश है एक लेख जो महिलाओं की अपने अधिकारों की क़ानूनी लड़ाई के बारे मैं है।
http://unmukth.wordpress.com/2007/10/24/women-empowerment-rights/
इसके साथ संलग्न है "खबर लहरिया कहानी" नामित एक फिल्म - "खबर लहरिया" महिलाओं द्वारा संचालित भारत का एकमात्र ग्रामीण समाचार पत्र है।
Click on the link below to see the film:
http://youtu.be/A97uNIlnxYc

धन्यवाद
आपकी साथी
महुआ त्रिपाठी
BKP Alert (09-Aug-2014)

सभी साथियों को नमस्कार।
आज अलर्ट में हम साँझा कर रहे है मध्य प्रदेश और छत्तिश्गढ़ की वाश स्थिति और उसके सफलता के ऊपर लिखा गया एक केस स्टडी। यह केस स्टडी, स्थानीय सामुदायिक संगठन के लोगों के नेतृत्व में पानी और स्वच्छता के उपयोग में सुधार की दिशा में परिवर्तन लाने के प्रयासों के अनुभवों का एक संश्लेषण है।

इस के साथ ही संलग्न है जुलाई माह में प्रकाशित DA का समाचार पत्र जिसमे हमारे ही साथी PRADAN की राकेशजी का NRM पे लिखा हुआ एक प्रतिवेदन भी है।

Agro Forestry  Water Aid Case Study



धन्यवाद्
भागवत प्रसाद
निदेशक
BKP Alert (24-July-2014)

प्रिय महोदय /महोदया,
अखिल भारतीय समाज सेवा संस्थान उत्तर प्रदेश एवं मध्य प्रदेश में कार्यरत एक स्वम सेवी संस्थान है . संस्थान चित्रकूट, बाँदा , टीकमगढ़ एवं अनूपपुर में समेकित प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन एवं कृषि आजीविका विकास, महिला ससक्तिकरण, जल सुरक्षा, स्कूल वाशएवं ग्रामीण हकदारी के क्षेत्र में कार्य कर रही है.

संस्थान द्वारा टीकमगढ़ जिला में लघु एवं सीमांत कृषको के साथ सब्जी उत्पादन एवं टपक सिंचाई प्रबंधन का समावेशीकरण कर आजीविका विकास कि ओर एक पहल कि गयी है. केस स्टडी प्रेषित है. इस फल के अंतर्गत न केवल लघु एवं सीमांत कृषको को सब्जी उत्पादन कि ओर प्रेरित किया गया है, बल्कि टपक सिंचाई प्रबंधन एवं जैविक खेती का समावेशीकरण कर कम लागत तथा जल प्रबंधन का भी उदहारण बन पड़ा है.

आपके अवलोकनार्थ प्रतिवेदन प्रस्तुत है. उचित प्रतीत हो तो बुन्देलखण्ड ज्ञान मंच के साथियों तक अनुभव को रखने/ share कर अनुग्रहीत करे.

Agro Forestry  Benefits of Veg Production by Small Farmers



धन्यवाद्
भागवत प्रसाद
निदेशक
BKP Alert (21-June-2014)

सभी साथियों को नमस्कार।
जब की अपनी निर्धारित समय से ५ दिन बाद मॉनसून दस्तक दे चुके है , पर meteorological विभाग के अनुसार इस बार बुंदेलखंड में सुखा पड़ने की सम्भावना है।
इसको ध्यान में रखते हुए आज हम सूखे से बचाव के एक तरीका 'कृषि वानिकी' तथा agroforestry के बारे में जानकारी के साथ ये अलर्ट साँझा कर रहे है। please find attached two reports on agroforestry and its environmental benefits.

Agro Forestry  Agro Forestry helps farmers adapt in climate sensative areas in India

Importance of Agro Forestry  Importance of Agro Forestry



धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert (06-June-2014)

सभी साथियों को नमस्कार।
पहले तो हम आप का धन्यवाद करते है 22 मई के वर्कशॉप में भाग ले कर उसे सफल बनाने के लिए। बैठक के कार्यवृत्त इस अलर्ट के साथ संलग्न है। इस साँझा मंच में प्राप्त ज्ञान निश्चित रूप में जलवायु परिवर्तन की अनुकूलन रणनीति को अपनाने में हमारी मदद करेगी। उम्मीद करते है के बहत जल्द हम इस तरह के मंच में अन्य अलग विषयों में ज्ञान का आदान प्रदान करने के लिए सम्मिलित होंगे।

आप सब जरूर जानते होंगे के 5 जून विश्व में पर्यावरण दिवस के रूप में मनाया जाता है। पर्यावरण के प्रति अपनी जिम्मेदारी महसूस करने के लिए और पर्यावरण सुधार कार्यक्रम में अपना योगदान देने के लिए यह एक अवसर है। इस वर्ष के विश्व पर्यावरण दिवस का विषय था "Raise your voice...not the sea level", यानि की जलवायु परिवर्तन के एक प्रतिकूल प्रभाव के ऊपर। Development Alternatives ने भी बाल पंचायत की बच्चो के साथ मिल कर इस दिवस का पालन किया और पर्यावरण एवं जलवायु परिवर्तन के प्रभावों पर समुदाय के लोगों के बीच जागरूकता पैदा की। इस कार्यक्रम की रिपोर्ट संलग्न है।

Compost of kitchen waste  BKP Proceedings 22-May-2014

Compost of kitchen waste  Environment Day 2014 Report



धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार।
पहले तो हम अलर्ट भेजने में देरी के लिये माफ़ी चाहते है। अब आते है आज की अलर्ट के विषयवस्तु पर। ऐसे ही बुंदेलखंड की पथरीला और बांझ मिट्टी उचित कृषि पद्धतियों के लिए उपयुक्त नहीं है। इसके अधिक रासायनिक खाद के व्यापक उपयोग, मिट्टी की गुणवत्ता में लगातार गिरावट ला रहा है। इस लिए आज हमारी चर्चा रासायनिक खाद के प्रतिकूल प्रभावों और उसके समाधान के रूप में प्राकृतिक खेती पर आधारित है।
हम आपसे साँझा कर रहें है महर्षि दयानंद विश्वविद्यालय, रोहतक कि अध्यापक श्रीं राजेंद्र चौधरी जी का लिखा हुआ कुदरती खेती पर एक दस्तावेज।
और इसके साथ सुने "अमृत मिट्टि" पर Radio Bundelkhand का एक ऑडिओ क्लिपिंग।
ये तो गयी ज्ञान कि बात। आब आते है BKP की अपनी बात पर। अगले 17 May 2014 को हम आप लोगो से एक workshop के जरिये मिलना चाह्ते है। इस कार्यशाला का उद्देश्य रहेगा सक्रिय रूप से बुंदेलखंड क्षेत्र में प्राकृतिक संसाधन प्रबंधन पर काम कर रहे साथियों के अनुभव से सीख लेना। इससे हमें, भूमि और जल प्रबंधन के लिए सबसे अच्छा अनुकूलन प्रथाओं की पहचान करने और स्थानीय विकाश की प्रक्रिया में उन्हें एकीकृत करने के लिए उपयुक्त तरीकों की पहचान करने में मदत मिलेगी। हम उत्सुकता से इस कार्यशाला में आप सबकी भागीदारी आशा करते है। हम बहत जल्द Workshop की agenda और background note आपको भेजेंगे।

Compost of kitchen waste  Effect of Chemical Fertilizer

Compost of kitchen waste  Kuderati Kheti

Behro Bhauji 1 - Prevent the use of Polythene in Daily Life  Jaivik Khad par charcha



धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार।
कल का दिन विश्व में पृथ्वी दिवस (Earth Day) के रूप में मनाया जाता है। हर वर्ष की 22 अप्रैल को 190 देशों में एक अरब से अधिक लोग कई कार्रवाई के द्वारा पृथ्वी दिवस मनाते हैं। इस आधुनिक पर्यावरण आंदोलन संयुक्त राज्य अमेरिका में 1970 में शुरू किया गया था और ये
अभियान पर्यावरण चिंताओं और वायु और जल प्रदूषण के बारे में उभरते लोक चेतना पर केंद्रित था। 20 लाख अमेरिकियों, एक स्वस्थ और टिकाऊ पर्यावरण की मांग पर विशाल रैलियों में सड़कों, पार्कों, और सभागारों में उपस्थित हुए थे। कॉलेजों और विश्वविद्यालयों से छात्रों वातावरण की गिरावट के खिलाफ विरोध प्रदर्शन का आयोजन किया। जलवायु परिवर्तन के हर दिन बढ़ती हुई प्रकोपों को चुनौती दे कर एक स्वच्छ वातावरण के लिए ये लड़ाई बढ़ती तात्कालिकता के साथ अभी भी जारी है।

जलवायु संकट हल करने के लिए पृथ्वी दिवस 2014 हरी शहरों (green cities) पर केंद्रित है। क्यों की दुनिया की अधिकतर आबादी शहरों में प्रवास करती है, और शहरीकरण जलवायु परिवर्तन को प्रभावित करता है तो एक शिक्षित, सक्रिय और टिकाऊ समुदाय बनाने की जरूरत पहले से कहीं अधिक महत्वपूर्ण है। Sustainable technologies को बढ़ावा दे के हम अपने शहरों को बदल सकते है और अपने लिए एक सुरक्षित एवं sustainable भविष्य बना सकते है।

डेवलपमेंट अल्टरनेटिव्ज महिलाओं एवं बच्चों के साथ मिल कर विभिन्न गतिविधियों के द्वारा इस साल के पृथ्वी दिवस माना रहा है। ग्रामीण बच्चे के बीच में पर्यावरण चेतना पैदा करने के लिए हम तारा ग्राम ओरछा में एक छात्र जागरूकता अभियान का आयोजन कर रहे हैं। हम आप सबको पृथ्वी दिवस उत्सव का एक हिस्सा बनने के लिए आमंत्रित करते है। आशा करते है हम सबके सम्मिलित प्रयास एक स्वच्छ, स्वस्थ, और अधिक आर्थिक रूप से व्यवहार्य भविष्य को सुनिश्चित करने में सफल रहेगा।

Behro Bhauji 1 - Prevent the use of Polythene in Daily Life  Behro Bhauji 1 - Prevent the use of Polythene in Daily Life

Earth Day 2014: The Green Cities Campaign  Earth Day 2014: The Green Cities Campaign



धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार।
आज अलर्ट के जरिये हम साँझा कर रहें है रसोई के कचरे का उपयोग से मिट्टी की गुणवत्ता में सुधार लाने के ऊपर बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी कि एक रिपोर्ट। रसोई के कचरे से खाद बुंदेलखंड की कम पोषक तत्व मिट्टी के लिए बहुत उपयोगी है। बुंदेलखण्ड की ग्रामीण आबादी के बीच जैविक खेती पर जागरूकता बढ़ाने के लिए यह जानकारी फायदेमंद हो सकता है।

Compost of kitchen waste  Compost of kitchen waste

धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार और बीती हुई होली की शुभ कामनाएं।
आज अलर्ट के जरिये हम यही बताना चाह रहें हैं के योजनाओं की जानकारी और उसकी प्रभावी कार्यान्वयन कितना लाभदायक हैं। "संसाधनों की उपलब्धता से बगवानी उत्पादन में वृध्दि" यह प्रतिवेदन इस बात को सिद्ध करता हैं।
इसी के साथ सुनिये फसल के गाहना करते समय ध्यान रखने वाली बातों के ऊपर रेडियो बुंदेलखंड का एक ऑडियो क्लिप।

Link  संसाधनों की उपलब्धता से बगवानी उत्पादन में वृध्दि

Link  Thresing Karte Waqt Savadhaniyan 1

धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार।
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर आज हमारा अलर्ट महिलायों पर आधारित है। गुलाबी गैंग का नाम तो हम सभी ने ही सुना है। आइये आज जानते है इसके उत्थान के पीछे की कहानी। (निचे दी गयी लिंक पर क्लिक करें )
डेवलपमेंट अल्टरनेटिव्ज 8 तारीख को 'सहयोगिनी महा संघ' की महिलायों के साथ ताराग्राम पहुज में सुबह 11 बजे से अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मना रहा हैं। हम आपको इस कार्यक्रम का एक हिस्सा बनने के लिए आमंत्रित करते है।

Video  Gulabi Gang

धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार।
आज हमारा चर्चा का विषय है सहभागितापूर्ण ग्रामीण ऊर्जा योजना। पिछले पांच वर्षो से डा ने बुंदेलखंड क्षेत्र में अक्षय ऊर्जा पे बहत कार्य किया है। इस रिपोर्ट से आप को गांव के विकास की ओर सामूहिक भागीदारी का महत्व क्या है और सहभागिता से गांव में कैसे कार्य करना है उसकी एक रूप रेखा मिलेगी।
इस का एक जीबंत उदाहरण हम एक केस स्टडी के रूप में साँझा कर रहे है। समुदाय की भागीदारी से दतिया के गोविंदनगर गांव में सौर ऊर्जा प्रौद्योगिकी के कार्यान्वयन, पानी की अनुपलब्धता को हल करने के लिए कितना महत्वपूर्ण रहा इस मामले का अध्ययन आप को उसकी जानकारी प्रदान करेगी।

Video  Sample Case Study (SKSS)

Video  Toolkit For Participatory Village Energy Planning

धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार।
आज अलर्ट के रूप में देखते है बुंदेलखंड का वो सच जो हम देख कर भी अनदेखा कर देते है।
इसे देखिये और सोचिये बुन्देलखण्ड कि विकास में हमारा अब तक का क्या और कितना योगदान रहा। इस सच की राहों पर हम आगे का सफ़र कैसे तय करें आप से इसके सुझाव का इंतजार रहेगा।

Video  Ardhya Satya 1

Video  Ardhya Satya 2

Video  Ardhya Satya 3

धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार।
आज हम महिलाओं के आर्थिक सशक्तिकरण के लिए महिला वित्त विकास निगम द्वारा चलाया जा रहा कार्यक्रम ''एडिंग वीमेन वेजिटेबल कल्टीवेटर" पर आधारित डेवलपमेंट अल्टरनेटिव्ज का एक केस स्टडी साँझा कर रहे है। इसमें आप को कोकोपिट एवम् प्रो - ट्रे तकनीक के माधयम से पौध तैयार करने के बारें में भी जानकारी मिलेगी। इसके साथ हम रेडियो बुंदेलखंड की एक ऑडियो क्लिपिंग भी भेज रहे है जो पाले और कोहरे से फसलों का कैसे बचाव करना है उसके बारें में जानकारी प्रदान करेगी।

Pdf  Case Study On Vegetable Cultivation, Niwari

Pdf  Radio Bundelkhand - Pale Se Bachav Kaise Karein

धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार।
आज हम आपसे एक फ़िल्म साझा कर रहे है। इस फिल्म में, खेल के माध्यम से एक गंभीर वास्तविकता पेश किया गया है। यह बुंदेलखंड के ग्रामीण क्षेत्रों में बच्चों, खासकर लड़कियों द्वारा खेला जाने वाला एक खेल है, जहाँ छोटी लड़कियां खेल के माध्यम से पानी की कमी और इसके प्रभाव एवं पानी के संरक्षण का संदेश प्रस्तुत किया है। इस लघु फिल्म में, युवा होठों से 'पानी बर्बाद मत करो' वाणी एक रोना बन जाता है। इस फ़िल्म के द्वारा पानी का संरक्षण का सरल संदेश हम एक मार्मिक ढंग से देना चाह रहे जो हमारे दिल को छू जाये।
 
फिल्म को देखने के लिए नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें:
http://www.youtube.com/watch?feature=player_embedded&v=uXysUIce-Mc

धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार।
पहले तो अलर्ट भेजने में देरी के लिए हम आप लोगो से माफ़ी चाहते है। आज हम बी. के. पी. अलर्ट के रूप में जलवायु परिवर्तन के अनुकूलन को नीति और योजना की मुख्य धारा में कैसे शामिल किया जा सकता है उसके ऊपर डेवलपमेंट अल्टरनेटिव्ज का एक प्रतिवेदन प्रस्तुत कर रहे है। आशा करते है यह जानकारी हमे अपने क्षेत्र में जलवायु परिवर्तन के प्रभावों के ऊपर जागरूकता लाने में और इसके अनुकूलन रणनीतियों को स्थानीय विकास योजना प्रक्रिया में शामिल करने में सहायता करेगी।

Pdf  Climate Resilient Development

धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार।
आशा करते हैं आप सबको हमारा पिछला अलर्ट अच्छा लगा होगा। इस बार भी हम डा. प्रकाश जी का लिखा हुआ एक और प्रतिबेदन साँझा कर रहे है। आप सबसे हमारा निवेदन है के इसे पढ़ने के बाद आप अपना पुनर्निवेश निम्नलिखित ई - मेल i.d. पर जरुर भेजे।
E-mail id of Dr. Bharatendu Prakash: brsc2008@gmail.com

  VIKAS KI VINASHPARAK DISHA AUR BUNDELKHAND

धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार।
आज अलर्ट भेजते हुए मुझे बहुत ज्यादा हर्ष हो रहा है। क्यूँ कि आज हम आप सबके साथ अपने ही साथी डा. भारतेन्दु प्रकाश जी का लिखा हुआ एक प्रतिवेदन सांझा कर रहे है । डा. प्रकाश, बुंदेलखंड संसाधन अध्ययन केंद्र, छतरपुर के अध्यक्ष है और बुंदेलखंड ज्ञान मंच के साथ पूर्व से जुड़े हुए है। हमें यकीन है कि पर्यावरण क्षेत्र में उनके अपार ज्ञान और कार्यान्वयन को जान कर हम अपने ज्ञान को समृद्ध कर सकते हैं।
इसके साथ ही हम अपने एक और साथी के. के. चतुर्वेदी जी का भी एक लेख सांझा कर रहे है। हम सभी को पता है के इसी महीने में मध्य प्रदेश विधान सभा का चुनाव होने जा रहा है। हमारा राजनिति से कोई सम्बन्ध नही है फिर भी मतदान करके सुशासन लाना हम सबकी नागरिक जिम्मेदारी है। इस क्षेत्र में सुमित्रा समाज कल्याण संस्थान द्वारा चलाया जा रहा "मतदाता जागरूकता अभियान" सराहनीय है। बुंदेलखंड ज्ञान मंच उनके इस प्रयास का अभिवादन करता है।

  Challenges before Environment by Dr. Prakash
  Challenges before Environment by Dr. Prakash
  Voters Awareness Campaign_by K K Chaturvedi

धन्यवाद
आपकी अपनी साथी
महुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
सभी साथियों को बीती हुए दीपावली की बहुत - बहुत शुभकामनाएं। उम्मीद है कि आपकी दीवाली उज्जवल और आनंदमय रही होगी।
आज का अलर्ट बुंदेलखंड क्षेत्र में मनरेगा के कार्यान्वयन की स्थिति पर आधारित IJMDS की एक रिपोर्ट के रूप में है। इसके साथ आप सभी से हमारा अनुरोध है कि आप अपना सुझाव जरुर दें जिससे हम इस मंच को और भी मजबूत और उन्नत बना सके।

  MGNREGA in Bundelkhand

धन्यवाद
आपकी अपनी साथी
महुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियो को नमस्कार
पहले तो अलर्ट भेजने में देरी के लिए हम आप लोगो से माफ़ी चाहते है। वैसे आप सबको पता ही होगा कि २३ अक्टूबर २०१३ को ताराग्राम यात्रा है। इस सिलसिले में हम पुनः इस मेले में शामिल होने के लिए आप सबको आमंत्रित करते है।
आज बी. के. पी. अलर्ट के रूप में हम पर्यावरण पर खनन का प्रभाव को लेकर बुंदेलखंड यूनिवर्सिटी का एक प्रतिवेदन भेज रहे है। आशा करते है कि इस प्रतिवेदन के द्वारा हमे अत्यधिक खनन प्रथाओ के कारण वातावरण में परिवर्तन को समझने और उसमे सुधार कैसे किया जाये इसकी जानकारी मिलेगी।

  Impact of Mining

धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियो को नमस्कार
जैसे कि साथियो अब रबी और खरीफ कि खेती का मौसम है इसलिए इस बार हम बुंदेलखंड ज्ञान मंच के माध्यम से बीज के उपचार के विषय में बात करेंगे जो कि हमारे क्षेत्र के किसान भाइयो के लिए लाभकारी सिद्द होगी। इस जानकारी हेतु वह अच्छी गुणवत्ता के बीजों के माध्यम से फसल कि उपज में वृद्धि ला सकते है।
जैसा कि पिछली बार हमने तय किया था कि इस बार के अलर्ट में हम आपके बीच से लिया गया कोई प्रतिवेदन साँझा करेंगे पर किन्ही कारणवश ऐसा नहीं हो पाया। तो साथियो हम आपसे फिर से आग्रह करते है कि इस बारे में आप भी अपना सुझाव दे और अपने परियोजना क्षेत्र से ही कोई केस स्टडी सबके साथ साँझा करें। २० अक्टूबर २०१३ को अगले अलर्ट के लिए हम आपके सकारात्मक जबाव का उत्सुकता से इंतिजार करेंगे।

  Seed treatment

धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियो को नमस्कार
आज बी. के. पी. अलर्ट के जरिये हम बात करेंगे जलवायु परिवर्तन के द्वारा होने वाले प्रभावों की। विश्व का बढ़ता हुआ तापमान जलवायु परिवर्तन का ही प्रभाव है जिसका असर विश्व के हर कोने में रहने वाले लोग महसूस कर रहे है। इसके साथ ही एक प्रतिवेदन के द्वारा हम बुंदेलखंड में जलवायु परिवर्तन किस प्रकार से प्रभाव डाल रहा है वह भी जानेगे। सबसे महत्पूर्ण बात तो यह है कि चाहे हम इसमें सीधे तौर पर शामिल हो या न हो इसके प्रभाव से बच नहीं सकते। इसलिए इस परिस्तिथि से बचने के लिए हम सबको एकजुट होकर आगे आना है और कार्य करना है।
यह तो हो गई ज्ञान की बात अब हम कुछ अपनी बात करते है। बी. के. पी. नेटवर्क के सदस्य होते हुए हम चाहते है कि आगे से बी. के. पी. अलर्ट के माध्यम से हम आपकी भी बात को साँझा करें। मतलब अगली बार से अलर्ट के रूप में आपमें से किसी का कोई केस स्टडी या अनुभव हम आपस में साँझा करेंगे। इस तरीके से हम एक दूसरे के साथ और भी अच्छे से जुड़ पाएंगे।
अतः सभी साथियो से दरख्वास्त है कि अगले महीने कि ५ तारीख से पहले आपमें से किसी के पास ऐसा कोई प्रतिवेदन है तो वो भेजे हम उसे सभी के साथ साँझा करेंगे।

  An article on Climate change

धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियो को नमस्कार
बुंदेलखंड ज्ञान मंच के माध्यम से आज हम चर्चा करेंगे बुंदेलखंड के सबसे पिछड़ी जनजाति - सहारिया आदिवासियो के बारे में। शिवपुरी जिला बुंदेलखंड के आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र में से एक है। इसी जिले के एक गाँव कठमई में हर प्रकार की सरकारी योजनाये चलने के बावजूद भी इस गाँव में निवास करने वाले आदिवासियो की स्थिति दयनीय है। इस जानकारी के साथ - साथ हम सभी को इनके मानसिक, सामाजिक और आर्थिक विकास के लिए इनकी और सहायता का हाथ बदन चाहिए ताकि वो भी समाज कि मुख्य धारा में खुद को शामिल कर सकें एवं खुशहाल तथा सुनिशिचित जीवन बीता सके।

  Sahariya_tribes_in_Shivpuri

धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
सबसे पहेले मैं अप सबको अपना परिचय बताना चाहूँगी। मैं हूँ मोहुआ त्रिपाठी, आपका नया साथी।
हम सभी जानते है क बुंदेलखंड एक सूखे से प्रभाबित क्षेत्र है। ईस लिए आज हम बुंदेलखंड ज्ञान मंच के माध्यम से बरसा जल संचयन और उसके तकनीक के बारे में जानेंगे। पहेले भी हमने ईस बारें में चर्चा किए है। पर इस बिस्तृत जानकारी से हमें समयानुसार एडाप्टेशन स्ट्रेटेजी बनाने में आसानी होगी और उसके माध्यम से हम भूमिगत जल संरक्षण में उपयुक्त भूमिका ले पायेंगे।

  Rain Water Harvesting

धन्यवाद
आपकी साथी
मोहुआ त्रिपाठी
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार
जैसा की हम सभी जानते है की सूचना कई समस्यों का समाधान होती है और सूचना की प्राप्ति से कई समस्यों को हम आसानी से सुलझा सकते है। आज हम उन अधिकारों व् सुविधों को जानेगे जिनके इस्तेमाल से हम अवश्यक सूचनाये आसानी से प्राप्त कर सकते है ।

  Access to Information

धन्यवाद
आपकी साथी
सुतुल श्रीवास्तवा
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
बुंदेलखंड जन मंच के माध्यम से आज हम जानेगे की किस प्रकार बीज बैंक जलवायु के साथ साथ कृषि उत्पादन में महत्व पूर्ण भूमिका निभा सकता है। और आज के अलर्ट के माध्यम से हम जानेगे की किस प्रकार ग्रामीण स्टार पर हम बीज बैंक अपना सकते है।
इससे सम्बंधित आपके मन में कोई प्रश्न या सुझाव है तो हमें अवश्य बताये

  Seed Bank

धन्यवाद
आपकी साथी
सुतुल श्रीवास्तवा
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार
सबसे पहले अलर्ट भेजने में देरी के लिए छमा चाहेंगे I और उम्मीद करते है आगे से इस प्रकार की देरी नहीं होगी इस बार के अलर्ट के माध्यम से हम लोग बायो डाइवर्सिटी रजिस्टर के महत्व को जानेगे और किस प्रकार यह अनुकूलन उपाय हमें हमारी जलवायु को सुरक्षित और संरक्षित रखने मदद कर सकती है उसको जानेगे I यदि आपके क्षेत्र में या आस पास इस प्रकार की कोई गति विधि की गयी हो या की जा रही है तो उसके कुछ परिणाम या अनुभव हम से अवश्य बाटे I आपकी द्वारा दी गयी जानकारी हम सभी के लाभदायक होगी I

  Peoples Biodiversity Register

धन्यवाद
आपकी साथी
सुतुल श्रीवास्तवा
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
इस वर्ष की पहली तिमाही समाप्त होने को है और इसके साथ ही बुंदेलखंड ज्ञान मंच की कार्यशाला के आयोजन का समय हो गया है. आप सभी को याद होगा की पिछली कार्यशाला में प्रतिभागी साथियों का सरोकार था की अब ज्ञान मंच को नए स्तर तक ले जाने की आवशयकता है, इस दिशा में हमने कुछ प्रयास किये है। इसका असर हमें अगली तिमाही में देखने को मिलेगा।
हमारा प्रयास है की हम बुंदेलखंड ज्ञान मंच के तकनिकी भाग को मजबूत करें तथा इस मजबूती को हम संगठन के विकास, मजबूती और साथियों के सहयोग के लिए प्रयोग करेंगे.
इन्ही प्रयासों के तहत इस बार की कार्यशाला को हमने भारतीय चरागाह एवं चारा अनुसन्धान संस्थान (IGFRI), झाँसी के सहयोग से आयोजित करने का प्रयास कर रहे हैं। यह कार्यशाला मार्च ३०, २०१३, को आयोजित की जाएगी . इस कार्यशाला में हम प्रयास करेंगे की कृषि तकनिकी सूचना केंद्र (Agriculture Technology Information Centre, ATIC) जो की किसान और वैज्ञानिकों के मध्य सूचना प्रसार का एक माध्यम है, तथा बुंदेलखंड ज्ञान मंच कैसे एक दूसरे का सहयोग कर सकते हैं।
हमारा मानना है की तकनीक, किसान, किसान संगठन और स्वयं सेवी संस्थाए मिलकर इस दिशा में व्यापक बदलाव ल सकने की शक्ति रखते है। इसी आधार पर आने वाली कार्यशाला का विषय कृषि तकनीक, कृषक एवं कृषक संगठन पर रखा जा रहा है. इसके बारे में आपको शीघ्र ही और जानकारी उपलब्ध करायी जाएगी, आपसे अनुरोध है की मार्च ३०, २०१३ को आप कार्यशाला में अपना योगदान देने के लिए तैयार रहें।

धन्यवाद
आपका
सोनल कुलश्रेष्ठ
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
सर्व प्रथम उन सभी साथियों को धन्यवाद जिन्होंने खजुराहो में होने वाली कार्यशाला में भाग लेकर उसे सफल बनाया तथा लाभ उठाया। कार्यशाला के बाद होने वाले बैठक में सभी सभाग लेने वाले साथियों का कहना था की कार्यक्रम को अधिक सफल बनाने के लिए सभी साथियों की पूरी भागेदारी की आवश्यकता है। जलवायु परिवर्तन के सम्बन्ध में आज हम आपसे कुछ बाँटना चाहते हैं। हालाँकि यह सूचना english में है, कृषि सम्बन्धी जानकारी टेबल में होने कारण समझने में आसानी होगी। यह जानकारी विभिन्न स्थितियों में adaptation स्ट्रेटेजीज बताता है। आशा है इस तरह की जानकारी हमारे काम आयेगी।

  Adaptation to Climate Change

धन्यवाद
आपका
सोनल कुलश्रेष्ठ
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
सभी को नववर्ष की शुभकामनाये। आशा करतें हैं की नया साल आप सभी के जीवन में नयीखुशियाँ लाये और गत समय की ख़राब यादों को भुलाने में कारगर साबित हो। जैसा की आप जानते हैं की पिछली कार्यशाला में हमने निशित किया था की अगली बार हम कार्यशाला में Proposal Development पर चर्चा करेंगे।
अतः यह तय किया गया है की दिनांक 15 जनवरी 2013 को खजुराओ में आयोजित की जा रही है, आप सभी से अनुरोध है के जो भी साथी इस कार्यशाला में पहुंचना चाहते हैं, कृपया 10 जनवरी तक सूचना प्रेषित करने का कष्ट करें। यह आप लोंगों की सुविधा के लिए इंतजाम करने में हमें मदद करेंगे।
हम आपको यह भी बताना चाहते हैं के यह कार्यक्रम दर्शन महिला समिति द्वारा Development Alternatives के सहयोग से आयोजित किया जा रहा है। इस Project Proposal preparation के साथ साथ आगे की कार्यनीति भी तय करने का प्रयास करेंगे।
इसके साथ ही हम आज आपके साथ एक अवसर भी शेयर कर रहे हैं। जो की Japan Fund for global Environment द्वारा लिया जा सकता हो, कुछ लिनक्स आपको दिए जा रहे हैं। यदि आप इसे उपयुक्त पाते हैं तो इस अवसर का लाभ अवश्य उठाये।

Application form

अधिक जानकारी के लिए यहाँ क्लिक करें

भवदीय,
सोनल कुलश्रेष्ठ
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
पिछली बार की कार्यशाला में हमने बुंदेलखंड ज्ञान मंच को अगले स्तर तक ले जाने के लिए अपनी अपनी जिम्मेदारियों के बारे में बात की थी। इसमें हमने तय किया था की हम इस मंच पर ऐसी बातें शेयर करेंगे जो की या तो संस्था के रूप में हमारे लिए लाभकारी हों या के फिर जिस समुदाय के साथ हम कम कर रहे हैं उसके लिए लाभकारी हो। हमारे कुछ साथियों ने कहा था के कुछ नई (innovative) तकनीकों के बारें भी इस मंच पर विस्तार देना लाभकारी हो सकता है। आज हम इसी तहत एक जानकारी आपसे शेयर कर रहे हैं। प्रेषित जानकारी का लिंक निचे दिया जा रहा है:
धान के भूसे के चारकोल का प्रयोग उत्पादन वृद्धि के लिए
इस तकनीक को विश्व में कई स्थानों पर परीक्षित व प्रदर्शित किया गया है तथा सफल पाया गया है। कारणों पर ध्यान देने से लगता है के बुंदेलखंड क्षेत्र में भी इस तरह के अनुप्रयोग लाभकारी हो सकते हैं। बुंदेलखंड क्षेत्र में अधिकतर स्थानों पर मृदा की जल अधिशोषण क्षमता कम है , और इस परिप्रेक्ष्य में उपरोक्त तरीका पर्याप्त कारगर हो सकता है। साथियों से अनुरोध हे के जहाँ भी संभव हो थोड़े से क्षेत्र में इस को जाँच कर इसके परिणाम शेयर करें। यदि इस तरह के अनुप्रयोग सफल होते हैं तो इनके विस्तार के लिए संसाधनों का आयोजन नई परियोजनाओं के रूप में किया जा सकता है। इस तरह से यह जानकारी न केवल समुदाय वरन संस्थाओं के लिए भी एक अच्छा मौका हो सकती है। आवश्यकता है तो सिर्फ एक पहल की और खुले मन की।
अंत में हम आपसे फिर दोहराना चाहेंगे की इस मंच को सम्रद्ध करने के लिए आप सभी के सार्थक सहयोग की अत्यन ही आवश्यकता है।
भिअषा हैं की आप सभी जानते होंगे के इस मिल अलर्ट द्वारा प्रेषित जानकारी आप बुन्देलखण्ड ज्ञान मंच के वेब साईट पर भी प् सकते हैं जिसका url है:
www.bkpindia.net

     Water Harvesting

     Vermi Composting

मंच को मजबूती प्रदान करने के लिए आप सभी के सहयोग की आशा के साथ
आपका अपना
सोनल कुलश्रेष्ठ
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
यदि हम याद करें तो बुंदेलखंड ज्ञान मंच की पिछली कार्यशालाओं को बहुत साथियों ने बहुत ही लाभकारी बताया था. इससे प्रतीत होता है की अब हम कार्यशालाओं में तकनिकी तथा अनुप्रयोग (application) के उचित मिश्रण पर पहुँच गए हैं, जैसा के मंच के शुरूआती दौर में सभी साथियों की प्रतिपुष्टि (feedback) तथा आशा थी. परन्तु, पिछले काफी समय से हम साथियों की भागीदारी की बात लगातार करते आ रहे हैं, न केवल कार्यशालाओं में वरन मेल के द्वारा तथा आपसी बातचीत में भी. अभी ऐसा महसूस होता है की इस दिशा में हम पर्याप्त प्रगति नहीं कर पाए हैं. हम यह भी जानते हैं के न केवल हम बल्कि हमारे साथी भी यह चाहते हैं. इसीलिए, इस मुद्दे का समाधान आपसी सोच विचार के द्वारा ही हो सकता है. पिछली कार्यशालाओं में हम इस मुद्दे पर कुछ समय के लिए बातचीत करते आ रहे हैं, तथा मुख्या चर्चा हम कार्यशाला के तकनीकी मुद्दे पर केन्द्रित रखते हैं. शायद यही वजह है की अपने मंच की मजबूती की बात कुछ पीछे रहती जा रही है. यह स्वीकार्य है की यदि हम जानकारी और ज्ञान share करते रहें तब भी मंच की प्रसंगिकता बनी रहेगी, परन्तु हमें यह भी याद रखना होगा की संगठन को चिरस्थायी रखने के लिए हमें संगठन के मौलिक सिद्धांतों का पालन करना ही होगा, जिसमे की सभी की भागेदारी और सभी के लिए प्रासंगिकता निश्चित तौर पर सबसे मत्त्व्पूर्ण बिंदु हैं. इस बार हमने निश्चय किया है की हम भावी कार्यशाला में इस बारें अपने साथियों को आमंत्रित करेंगे के वो इस बारे में आगे की कार्य योजना रखें. आने वाली कार्यशाला को हम नवम्बर २३, २०१२ को ताराग्राम में होने वाले विकास मेले से समायोजित कर रहे हैं जिससे की हम अपने उद्देश्य को पूरा करने के साथ ही एक बड़े मंच से भी जुड़ सकें. इसके बारे में कुछ जानकारी हम अपनी पिछली मेल में प्रेषित कर चुके हैं.
इस यात्रा और मेले का पूर्ण लाभ लेने के उद्देश्य से हम आप सभी को इसमें भाग लेने ले लिए आमंत्रित करते हैं. और यह आमंत्रण आपको एक भगीदार के रूप में ही नहीं एक आयोजक के रूप में देना चाहते हैं. जैसा की हमने बात की थी की यह यात्रा संस्थाओं की दृश्यता बढ़ाने का एक अच्छा माध्यम हो सकती है, हम इस अवसर का उपयोग बुंदेलखंड ज्ञान मंच की दृश्यता बढ़ाने के लिए भी चाहते हैं. इस उद्देश्य में हम अपने सहभागियों का बराबरी का सहयोग चाहते हैं. इस अवसर पर होने वाले मेले में एक बुंदेलखंड ज्ञान मंच का स्टॉल लगाने का विचार हुआ है, हम चाहते हैं के हमारे सहभागी, साथी अपनी संस्थाओं के बारे में, उनके कार्यों के बारे में, अपने case studies, सफलता की कहानियां विकास के क्षेत्र के धुरंधरों से share करें.
यह अवसर न केवल networking का मौका देगा वरन अपने साथियों के बीच भी अपनी अपनी विशेषज्ञता और दक्षता को प्रदर्शित करेगा.
आप सभी से अनुरोध है के जो भी साथी, बुंदेलखंड ज्ञान मंच की स्टॉल में अपनी भागेदारी निभाना चाहते हैं, वो हमें दिनांक १७ नवम्बर २०१२ तक सूचित करने का कष्ट करें, ताकि उचित व्यवस्थाएं की जा सकें.
हम आपके आभारी रहेंगे यदि आप अपनी संस्था से भाग लेने वाले साथियों के बारे में भी सूचित कर सकें.
अंत में हम पुनः मुख्या बिन्दुओं को दोहरा कर आपसे अपनी अपेक्षा रखना चाहते हैं:

१. कार्यशाला में भाग लेने वाले सभी साथी मुख्य मुद्दे, संगठन को मजबूत बनाने के उपायों के बारे में अपनी बातें presentation या अन्यथा तैयार कर लाने का कष्ट करें
२. मेले में स्टॉल में सहायता करने वाले साथी अपना इरादा तथा साथियों के बारें में १७ नवम्बर तक बताने का कष्ट करें
आपके विचार के लिए कार्यशाला का (rough) प्रारूप सलग्न है.

     Draft Agenda for BKP Workshop to be held on November 23rd

आपका अपना साथी,
सोनल कुलश्रेष्ठ
बुंदेलखंड ज्ञान मंच
BKP Alert

सभी साथियों को अभिवादन,
लगातार बढ़ती महंगाई, बाज़ार की अस्थिरता, छोटे बाजारों में बड़े व्यवसायियों का प्रवेश, सभी काश्तकार भाइयों के लिए कठिन चुनौती लेकर आया है. इन परिस्थितियों में किसान भाईओं की हमसे ( विकास के लिए समर्पित संस्थानों से) आकांक्षाएं और हमारी उनके प्रति जिम्मेदारियां बढ़ गयी हैं, दुर्भाग्यवश, कृषि एक बहुत ही वृहत विषय है, जिसके सभी क्षेत्रों के बारे में समस्त जानकारी होना असंभव नहीं तो मुश्किल अवश्य है, अनेक बार ऐसा भी होता है के हम या हमारे साथी, विकास अभिकर्ता के रूप में जब भी समुदाय से मुखातिब होते हैं, समुदाय अपनी तात्कालिक आवश्यकताओं के अनुरूप जानकारी अथवा उपाय की आशा करता है, जो की अधिकतर नहीं तो अनेक बार कृषि सम्बंधित होती हैं. परन्तु विकास अभिकर्ता हमेशा कृषि की जानकारी रखे ऐसा नहीं होता. आज हम आपको एक वेबसाइट का लिंक प्रेषित कर रहे हैं, यहाँ क्लिक करें जो कि कृषि सम्बंधित जानकारी का अच्छा संग्रह है, हम आपसे यह नहीं कह रहे के सभी संस्थाओं का कृषि में कार्य करना आवश्यक है, अथवा सभी विकास कारकों का कृषि में ज्ञान रखना आवश्यक है, परन्तु, हमारे लक्षित समूह के सन्दर्भ की मुख्य आकांक्षाओं के मूलभूत जानकारी न केवल किसान भाइयों को सही दिशा दिखने में मदद करेगी, वरन हमारी साख भी समुदाय में बढ़ाने में मदद करेगी. आपसे आशा है की अपनी प्रतिपुष्टि (feedback) अवश्य ही हमें भेजें, यह हमारे alerts के स्तर और अच्छा बनाने में मदद करेगा, अगर आप यह भी बता सकें की आपको इस मंच से क्या आकांक्षाएं हैं, तो आप इस मंच को दिशा दिखने में और मदद कर सकते हैं.

धन्यवाद
आपका अपना,
सोनल कुलश्रेष्ठ

अस्वीकरण: इस अलर्ट में शेयर किये गए वेब लिंक का बुंदेलखंड ज्ञान मंच से कोई सम्बन्ध नहीं है. इस अलर्ट का उद्देश्य public domain में उपलब्ध जानकारियों को सम्बंधित जानकारियों को साझेदारों तक पहुँचाना है, जो की हमारे उद्देश्यों के अनुरूप हमारे साथियों के लिए लाभकारी हो सकते हैं.


BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
जैसा की हमने पिछली बार बात की थी, आपको ख़ुशी होगी की वैज्ञानिको ने भी इस बार बहुत अच्छी रबी फसल उत्पादन की आशा व्यक्त की है, जैसा की हम जानते हैं की सूचना एक बहुत ही बड़ा माध्यम है किसी भी समस्या जिनमे की जलवायु परिवर्तन भी शामिल है से निपटने के लिए. सूचना हमको समय पर उचित समाधान लेने में सक्षम बनती है. और इस सभी में यदि समुदाय की भागीदारिता हो तो असर और भी अच्छा होता है. Development Alternatives, इस बारे में सामुदायिक रेडियो के महत्त्व को समझते हुए एक ट्रेनिंग का आयोजन करवा रहा है, जिसका के विशेष प्रयोजन, ग्रामीण संवाददाता की जलवायु परिवर्तन सम्बन्धी मुद्दों पर क्षमता वर्धन करना है. हमारी साथी सुतुल ने इसे भेजा है. हम सलंग्नक में इसकी विस्तृत जानकारी प्रेषित कर रहे हैं. आपसे अनुरोध है, की आगे की जानकारी के लिए सुतुल जी से संपर्क करें. उनका मेल है: ssrivastava1@devalt.org

     Capacity building workshop for community reporters
भवदीय,
सोनल कुलश्रेष्ठ
बुंदेलखंड ज्ञान मंच
BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
देर से आई हलकी मगर लगातार वर्षा का खरीफ की खेती पर अलग अलग प्रभाव पड़ रहा है, इस तरह का मौसम ने फिर से मौसम विज्ञानियों हलचल मचा दी है. मौसम के खिसकाव को जलवायु परिवर्तन से जोड़ कर देखा जा रहा है. इस तरह की चर्चाएँ जोर पकड़ रही हैं के क्या मौसम की आने का समय तथा फसलों के उपयुक्त समय में कुछ परिवर्तन आया है अथवा आ रहा है. कुछ लोगों का कहना है के ये बदलाव सनातन हैं, होते रहे हैं और होते रहेंगे. इन सबके पीछे के कारण और विज्ञान कुछ भी हो परन्तु यह तथ्य है की इन सब परिवर्तनों से सबसे अधिक समस्या किसान को होती है. वही किसान जो हम सबकी भूख मिटने के लिए जिम्मेदार है. आज हमारी भी जिम्मेदारी है की जो कुछ भी जानकारी हमें है उसे किसानो तक पहुंचा कर हम उसकी आय में कुछ स्थिरता लायें और अपने लिए भी खाद्दान्य की व्यवस्था कर राष्ट्र की आर्थिक स्थिरता को भी बरक़रार रख सकें.
आज समय की मांग को देखते हुए हम आपसे यहाँ के लिए उपयुक्त गेहूं की कुछ अच्छी प्रजातियों की जानकारी बाँटना चाहते हैं. आशा है की हम सभी जानकारियों को अपने किसान साथियों को पहुंचाएंगे.
यह जानकारी हमें भारतीय कृषि अनुसन्धान संसथान (IARI), इन्दोर के सौजन्य से मिली है. अधिक जानकारी और बीज की उपलब्धता के लिए आप इस संस्था अथवा कस्तूरबा ग्राम, इंदौर से संपर्क कर सकते हैं. यह बीज प्रजातियाँ IARI द्वारा ही विकसित की गयी हैं. इनमे से कुछ प्रजातियों की बात हम पहले भी कर चुके हैं, परन्तु इस बार हम एक सिंचाई अथवा असिंचित गेहूं की भी कुछ प्रजातियों की बात कर रहे हैं. ध्यान रखने योग्य बात यह है की इनमे से कुछ प्रजातियों की बुआई २० अक्टूबर से शुरू होती है, तथा खाद की मात्र भी सिंचाई की उपलब्धता पर निर्भर करती है, यही सब जानकारी आप संलग्न प्रतियों से प्राप्त कर सकते हैं. आशा करते हैं की हम सभी अपने अपने क्षेत्रों में इस जानकारी से कुछ लाभ अवश्य ही पहुंचाएंगे.
आप से अनुरोध है की इस पर अपनी प्रतिक्रिया अवश्य ही हमें प्रेषित करें. यदि कुछ अन्य जानकारी चाहते हैं तो भी बताएं, आशा हैं की हममे से ही कोई अवश्य ही मदद कर सकेगा.

    Seed Types
भवदीय,
सोनल कुलश्रेष्ठ
बुंदेलखंड ज्ञान मंच
BKP Alert

सभी सथियोमं को नमस्कार,
आज हम उन सभी साथियों को धन्यवाद देना चाहेंगे, जिन्होंने, १४ अगस्त की कार्यशाला को सफल बनाने में अपना योगदान दिया. जैसा की डॉ हिमांशु, जो के ACWADAM संस्था से थे, का सेशन बहुत ही सराहा गया, हम आज आपसे उनका presentation बाँटना चाहते हैं, जिससे की अधिकाधिक संख्या में भूजल सम्बंधित ज्ञान का लाभ उठाया जा सके. इस presentation की फाइल बड़ी होने के कारण हम इसका link आपसे शेयर कर रहे हैं. भूजल संसाधन हम चाहते हैं की इस जानकारी के माध्यम से हम अपने भूजल और जल सरंक्षण के कार्यों में उत्कर्षतता ला पायें.

भवदीय,
सोनल कुलश्रेष्ठ
BKP Alert

प्रिय साथियों,
जैसा की हम सभी जानते हैं के जल एक सीमित संसाधन है, और विशेषकर बुंदेलखंड क्षेत्र में विभिन्न कारकों के कारण कुछ अधिक समस्याकर है, और बदली परिस्थितियों में हमारे क्षेत्र में भूजल पर निर्भरता पर्याप्त रूप से बढ़ गयी है. इस सन्दर्भ में भूजल प्रबंधन का विशेष महत्त्व है जिससे की जल की उपलब्धता को हम बनाये रख सकें. इसके साथ ही चूँकि जल का सर्वाधिक प्रयोग कृषि क्षेत्र में होता है, अत: इसमें भी विशेष सरंक्षण की आवश्यकता है. इन सभी मुद्दों पर हम एक दिवसीय कार्यशाला का आयोजन कर रहे हैं. यह कार्यशाला, ताराग्राम ओरछा में दिनांक अगस्त १४, २०१२ को आयोजित की जा रही है, जिसमे आप सभी की उपस्थिति प्रार्थनीय है. कार्यशाला का agenda इस मेल के साथ सलंग्न है.

     BKP INVITATION 14 Aug 2012
     Agenda
     Invitation

भवदीय:
सोनल कुलश्रेष्ठ

BKP Alert

बुंदेलखंड विकास में भागीदार सभी साथियों को नमस्कार,
जैसा की सर्वमान्य तथ्य है की अनेक संस्थाए, समूह और व्यक्ति बुंदेलखंड की समस्यों से वास्ता रखते है और किसी न किसी तरह उन समस्याओं की जड़ में जाने का, उनके हल निकालने का प्रयास करते हैं. अखिल भारतीय समाज सेवा संस्थान ने कुछ प्रयास ऐसे किये हैं, जो की बुन्देलखण्ड की समस्याओं को समझने की कोशिश हैं, मुझे विश्वास है, की यह प्रलेख न केवल कार्यकारी संस्थाओं (practitioners) वरन सभी स्तर के और संस्थाओं की समझ बढाने वाला एक अच्छा दस्तावेज साबित होगा. इसका लिंक निचे दिया गया है.Alternative Planning for Sustainable Livelihoods in Bundelkhand Region, Uttar Pradesh इसके अतिरिक्त निम्न लिंक पशुधन पर जलवायु परिवर्तन के प्रभाव को कम करने के तरीकों का अध्ययन है , अध्यन हालाँकि बुंदेलखंड क्षेत्र का नहीं है, परन्तु इसमें समुदायों द्वारा अपनाये गए विभिन्न उपायों को वर्णित किया गया है, इनमें से काफी कुछ हमारे बुंदेलखंड क्षेत्र से मिलती परिस्थितियां हैं. Climate Change Impacts on Livestock and Adaptation Strategies to Sustain Livestock Production (Singh et al, 2012) आशा है के उपरोक्त दस्तावेज हमारे लिए उपयुक्त साबित होंगे, आप सभी से अनुरोध है के आप भी अपने क्षेत्र या साथियों अथवा समुदायों द्वारा जलवायु परिवर्तन का सामना करने के प्रयासों एवं तरीकों को हमारे साथ बांटे. जिससे की इन तरीकों को विस्तृत रूप और क्षेत्र में अपनाया और परीक्षित किया जा सके.लाभ अधिकाधिक लोगों तक पहुंचे. साथ ही इस ज्ञान मंच की उपयोगिता भी बढ सके.

भवदीय,
सोनल कुलश्रेष्ठ,

BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
आशा है के आप सभी को इस बात की जानकारी होगी की आजकल हम भूगर्भ जल सप्ताह मना रहे हैं. भूगर्भ जल अथवा भूगत जल हमारी जल की आवश्यकताओं को पूरा करने के लिए एक मुख्य संसाधन हो गया है, जिसका कारण विलुप्त होते सतही जल स्त्रोत हैं. आज मानव की बढ़ती हुई आवश्यकताओं की पूर्ति इस सीमित संसाधन द्वारा होना तब तक संभव नहीं है जब तक की उचित प्रबंधन न अपनाया जाये. भूजल का बिना सोचे समझे निर्गम, भूगत जल भंडार को अपूर्णीय क्षति पहुंचा सकता है. इस से बचने के लिए आवश्यक है की इस भंडार का पुनर्भरण किया जाये अथवा उपलब्ध जल का उचित उपयोग किया जाये. वर्षा जल संचयन इसका एक अच्छा तरीका है. आज हम आपसे विध्यालयों में वर्षा जल संचयन के क्या तरीके हो सकते हैं इस पर एक manual आपसे बाँट रहे हैं. यह मेनुअल www.rainwaterharvesting.org की वेबसाइट पर निम्न लिंक पर उपलब्ध है. http://www.rainwaterclub.org/docs/MANUAL%20ON%20ROOFTOP%20RAINWATER%20HARVESTING%20SYSTEM%20FOR%20SCHOOLS.पीडीऍफ़ हालाँकि यह मनुअल मुख्य रूप से विद्यालयों के लिए बनाया गया है, परन्तु तकनिकी रूप से किसी भी आवासीय क्षेत्रों के लिए उपयोगी है. साथ ही हमारी समझ विषय पर बढ़ाने की लिए विशेषकर लाभप्रद है. आशा करता हूँ की इसको हम इसका उपयोग अपने कार्य क्षेत्र में कर पायंगे.

धन्यवाद,
आपका साथी,
सोनल कुलश्रेष्ठ,

BKP Alert

प्रिय साथियों,
आज में आपसे दोबारा रूबरू हूं. लेकिन इस बार कुछ सवालों के साथ. क्या हम सबको पारस्परिक संबोधन या बातचीत के लिए १५ दिन की प्रतीक्षा आवश्यक है? क्या इस बातचीत में केवल एक व्यक्ति या के कुछ व्यक्तियों के द्वारा ही इस मंच की उपयोगिता को न्यायसंगत ठहराया जा सकता है. क्या इस मंच की उपयोगिता केवल १५ दिन के अंतराल पर एक ईमेल द्वारा पूरी हो जाती है. आज हम आपसे दोबारा एक चर्चा करना चाहते हैं, क्या हम बुंदेलखंड ज्ञान मंच को एक वृहद मंच के तौर पर बढ़ता हुआ नहीं देखना चाहते. क्या हम यह सपना नहीं देखते की जो हम सब एकल रूप मैं नहीं कर सकते, वह इस मंच के द्वारा हासिल कर पायें, मेरी सोच से बुंदेलखंड विकास मंच के वृहद बदलाव की कुंजी हो सकती है, अगर हम सब मिलकर निश्चय कर लें. जरूरत है तो बस इसको एक अलग नजरिये से देखने की, इस मंच को अपने से जोड़ने की, इस मंच से दिल से जुड़ने की.और इस जुडाव को सबको बताने की, और भी साथियों को, संस्थाओं को इससे जोड़ने की. इस दिशा में एक बहुत ही छोटा सा कदम उठाने के लिए में आपसे आशा करता हूं, क्या हम अपनी संस्था का जुडाव इस मंच से दिखने के लिए अपनी संस्था के बारें जानकारी में इस मंच की वेबसाइट पर देखना या दिखाना नहीं चाहेंगे. विभिन्न संस्थाओं का इस मंच से जुडाव इस मंच को सशक्त करेगा , तथा सभी अलग अलग संस्थाओं को भ एक बल देगा, तथा हमारे Clients को भी एक विश्वास देगा. आपसे अनुरोध है की अपनी संस्था के बारे मं वो जानकारी जो की आप इस मंच के द्वारा देना चाहते हैं, हमसे बांटे. साथ ही अगर आप अपनी वेबसाइट का लिंक भी देना चाहे तौ वह भी हम इस ज्ञान मंच के वेबसाइट पर दे सकते हैं. लेकिन में इस बात पर भी ध्यान दिलाना चाहूँगा की मैं आपको इस बात का वादा नहीं कर सकता हूं की आप जो भी जानकारी देंगे वह मंच की वेबसाइट पर आ जाएगी. कुछ अन्य निर्णय सम्बन्धी तथ्यों के आलावा जो मुख्य मानदंड होगा वो होगा के कोई भी व्यवसायिक संस्था की जानकारी या व्यवसायिक प्रयोजन वाली जानकारी इस मंच के द्वारा हम नहीं बाँटना चाहेंगे. मुझे विश्वास है की समुदाय के प्रति जिम्मेदारी को समझते हुए हमें कुछ स्वनियंत्रण करने की आवश्यकता है, इसे आप समझेंगे. मैं आप लोगों से एक सहयोग और भी चाहता हूं, मंच से जुड़े कुछ जिम्मेदार लोगों के आलावा हम अपने साथियों में से भी तीन संस्थाओं के प्रतिनिधियों को भी आमंत्रित करना चाहेंगे जो के इस प्रक्रिया में शामिल हो कर इसको पारदर्शी बनाने में इस मंच का सहयोग करें. यह प्रतिनिधि हमारी इस बात में सहायता करेंगे की आप लोगों में से भेजी गयी कौनसी जानकारी (संस्था सम्बंधित) इस मंच पर publish की जा सकती है. अगर अंत में इस मेल को समेकित करूं तो हमें आपसे इन्तेजार रहेगा
१. आपके विचारों का
२. आपकी तरफ से प्रतिनिधियों को नामित करने का. तीन संस्थाओं के प्रतिनिधि हम इस प्रक्रिया में शामिल कर पाएंगे, (नामित व्यक्ति आपकी ही संस्था से हो यह आवश्यक नहीं है.)
३. जो संस्थाए अपनी जानकारी मंच की वेबसाइट पर देना चाहें उनसे, उस जानकारी का
४. आपकी प्रतिपुष्टि (feedbacks) का

आपका अपना,
सोनल कुलश्रेष्ठ
(www.bkpindia.net)


BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार ,
सभी को एक अच्छे मानसून की शुभकामनायें आशा है की क्षेत्र के सभी भागों में मानसून का आगाज़ हो गया होगा. और इस मानसून के साथ ही हमारे क्षेत्र में प्रारंभ होता है उत्साह का संचार और किसानी कार्यों का दबाव. जहाँ भी अच्छी वर्षा हुई, वहीँ सभी कार्य रूक कर खेती बाड़ी के कार्य शुरू हो जाते हैं. और क्यों न हों, आखिर यही खेती न केवल जीविकोपार्जन बल्कि जीवन का भी आधार है. अच्छी वर्षा का होना या न होना, प्राकृतिक परिघटना है या हमारी गतिविधियों के लिए प्रकृति का उत्तर है, जिस पर हमारा सीधा कोई नियंत्रण नहीं होता. शायद यही कारण है की अच्छी वर्षा सबके, विशेषकर किसानों के जीवन में उत्साह भर देती है. लेकिन इस उत्साह, तथा यथासंभव प्रयासों के बावजूद भी कई बार सफलता हाथ नहीं आती, और कृषक भाईओं को हानि उठानी पड़ती है. इसका कारण होता है, अशुद्ध या कम गुणवत्ता वाले संसाधन जैसे की ख़राब बीज या मिलावटी खाद. सर्कार प्रयासरत है की कृषक भाईओं को इन सभी समस्यों से छुटकारा दिलवाया जा सके, परन्तु, किन्ही कारणोंवश सूचनाएँ/जानकारियां समय पर अंतिम व्यक्ति तक पहुँच नहीं पाती. आज हम सरकार के इन प्रयासों में सहायक बनकर आपसे भी सहयोग चाहते हैं. हम कुछ वेबलिंक आपको प्रेषित कर रहे हैं जो की इस मौसम को देखते हुए अत्यंत महत्वपूर्ण हो सकते हैं: आपसे आशा है के यह जानकारी, अपने कार्यकर्ताओं के माध्यम से जो किसी भी तरह से किसानों से जुड़े हैं, किसानों तक पहुँचाने का प्रयास करें. इस तरह की जानकारियों का प्रसार न केवल कृषकों के लिए हितकर होगा, बल्कि हमारी संस्था की प्रतिष्ठा और समुदाय से सम्बन्ध में इजाफा करेगा
बीजों के बारे में जानकारी http://agriculture.up.nic.in/seed_document_detail.aspx?id=1#1
डी. ऐ. पी. खाद की पहचान: http://agriculture.up.nic.in/songs_play.aspx?songid=1
युरीया खाद की पहचान: http://agriculture.up.nic.in/songs_play.aspx?songid=2
सुपर फोस्फेट खाद की पहचान: http://agriculture.up.nic.in/songs_play.aspx?songid=4
पोटाश खाद की पहचान: http://agriculture.up.nic.in/songs_play.aspx?songid=5
जिंक सल्फेट की पहचान: http://agriculture.up.nic.in/songs_play.aspx?songid=6

सार्वजनिक हितोद्देश्य के साथ,
आपका साथी,
सोनल कुलश्रेष्ठ
(www.bkpindia.net)

BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार ,
आज हम जलवायु परिवर्तन अनुकूलन और पारंपरिक ज्ञान के बारे में कुछ बातें करेंगे. जब हम इस जलवायु परिवर्तन के बारे में बातें करते हैं, कई बार अनायास ही एक विचार आता है, की हम जिन प्रभावों की बातें करते हैं जैसे की अधिक वर्षा या सूखा या मोंस्स्सों की देरी ये सब तौ हम सदियों से झेलते आये हैं. और अछि तरह ही इन कतिनयिओन का सामना करते आये हैं. हमारे पूर्वजो ने इन सब कठिनअयिओं के साथ जीना सीखा है और हमें सिखाया है, ये भी सच है के इन घटनाओं की पुनरावृत्ति काफी अधिक हो गयी है, लेकिन प्रवृत्ति तो वही है, जो की हमारे पूर्वज देखते ए हैं. इस परिप्रेक्ष्य में अगर हम सोचें तो क्या हमारा पारंपरिक ज्ञान पूरी तरह से असामयिक हो गया है उसकी हमें कोई जरूरत नहीं है, आज क्या सदियों से समय परीक्षित पारंपरिक ज्ञान को नवीन वैज्ञानिक ज्ञान के आधार पर भूला देने को सही तरीका माना जा सकता है? नवीनता जहाँ एक और तेजी से आगे बढ़ने के लिए जरूरी है तो पारंपरिक ज्ञान भी अपना सुद्रढ़ आधार बनाये रखने के लिए जरूरी है. इतने वर्षों के उतार चदाव के बाद हमें ये समझने की जरूरत है के नवीन वैज्ञानिक आधारित तकनिकी ज्ञान तथा समय परीक्षित पारंपरिक ज्ञान जो की दसियों या सेकड़ो नहीं, अनगिनित लोगों के सदियों के अनुभव का निचोड़ है, दोनों एक दुसरे के पूरक हैं तथा हमें न केवल दोनों को साथ लेकर चलने की जरूरत है वरन दोनों को समेकित रूप से लेकर चलने की जरूरत है. अंत में में एक बात और कहना चाहूँगा कोई भी ज्ञान केवल इसलिए गलत नहीं हो सकता की अभी तक उस पर कोई वैज्ञानिक शोध नहीं हुआ, जो प्रत्यक्ष अनुभव हैं, उनको प्रमाण की आवश्यकता नहीं है, आवश्यकता है तो इस बात की उसके अधरों को विश्लेषित कर उस ज्ञान को आज के समय के परिप्रेक्ष्य के अनोकूल किया जाये और पारंपरिक ज्ञान को और सम्रध किया जाये. आशा है के आज की बात हम सबको कुछ विचारनीय बिंदु देकर हमारे कम करने की पध्हती को बेहतर बनाने की दिशा में कुछ सहयोग करेगी, आप लोगों की प्रतिक्रिया की प्रतीक्षा में.

धन्यवाद
आपका अपना,
सोनल कुलश्रेष्ठ
बुंदेलखंड विकास मंच

BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार ,
जैसा की कुछ समय पहेले की कार्यशाला में जो साथियों से हमें फीडबैक मिला थकी कुछ तकनिकी जानकारी , हमारे कार्यों में अधिक efficiency ला
सकता है. आज हम आपसे Development Alternatives द्वारा किये गए कृषि क्षेत्र के कार्यों का analysis बाँटना छह रहे हैं . आपसे अनुरोध है की न सिर्फ इस पर अपनी टिपण्णी भेजे , वरन , अपने भी कार्यो को अपने साथियों से बाँटने का कष्ट करें .

जून के मौसम में , अछे मानसून की अपेक्षा के साथ ,

     FAC Report

धन्यवाद
आपका अपना,
सोनल कुलश्रेष्ठ,
बुंदेलखंड ज्ञान मंच,

BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
आज हम पेश हैं आपके सामने फिर कुछ चर्चाओं को लेकर. आज हम आपके साथ share करना चाहेंगे एक और website
की जानकारी, जो की भारत के पर्यावरण के बारे में जानकारी देती है इस website का लिंक है http://www.indiaenvironmentportal.org.
इन/ इसी वेबसाइट के एक लिंक को हम आपसे शेयर करना चाहेंगे A field report on the status of Social Welfare Schemes in Bundelkhand
region of Madhya Pradesh आशा है के यह document हमें कुछ तथ्यों से अवगत कराएगा को की हमारे लिए कुछ नए आयामों को जोड़ेंगे.

धन्यवाद
आपका अपना,
सोनल कुलश्रेष्ठ,
बुंदेलखंड ज्ञान मंच,

BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
कुछ वर्ष पुरानी सूखे की यादें हु अभी भूल नहीं पायें हैं. यही कारन है की गर्मियों के आगमन से बुंदेलखंड सिहर जाता है.
जब गर्मी के मौसम ने दस्तक दे दी है, और वर्षा/ मानसून की स्थिति भविष्य के गर्त में है. आज हम आपसे बुंदेलखंड के लिए सूखे राहत की कार्यनीति जो की केंद्र सरकार की अंतरमंत्रालय ka एक प्रतिवेदन है आपसे बाँट रहे हैं. हमें आशा है की यह हम सभी के लिए
एक अच्छा प्रलेख होगा. हम आप सभी से इसके बारे मैं प्रतिक्रिया की उम्मीद रखते हैं.

    Drought mitigation strategy for bundelkhand

आपका अपना साथी,
सोनल कुलश्रेष्ठ,
बुंदेलखंड ज्ञान मंच


BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
आज हम फिर आपके सामने हाजिर हैं आपसे कुछ कहने के लिए.
इस दौरान हमें अपने साथियों से एक कार्यशाला में भी mukhatib होने का मौका मिला. इस कार्यशाला को बुंदेलखंड ज्ञान मंच ने Development Alternatives एवं NRCAF के सहयोग से आयोजित किया था. यह कार्यशाला कई मायनों में एक अलग ही अनुभव दे गयी. इस कार्यशाला में किसान, वैज्ञानिक, विकास कार्यकर्ता, NABARD प्रतिनिधि, तथा सरकारी विभागों के प्रतिनिधि KVK अधिकारी अदि सम्मिलित थे.
सभी ने इस कार्यशाला में अपनी बातें रखीं. आप के लिए हम इस मेल में इस कार्यशाला में दिए गए कुछ presentations को भी शेयर कर रहे हैं. शेष हम अगली बार शेयर करेंगे. जो की files की बड़ी साइज़ की वजह से हम इस बार नहीं कर रहे हैं.
आप लोगों से अनुरोध है की अपने reactions हमसे और सभी से शेयर करें.


    Scaling of oppertunities 26.3
   Workshop              BKP presentation
आपका अपना साथी,
सोनल कुलश्रेष्ठ,
बुंदेलखंड ज्ञान मंच


BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
आपको याद होगा के हमने रबी का मौसम शुरू होने से पहले आप के साथ अपने कुछ प्रयासों की जानकारी दी थी. आज जब रबी का मौसम लगभग समाप्ति पर है, हम आपको दोबारा उनमें से कुछ बातें दोहराएंगे
हमने एक बात सुखी बुआइ की की थी. सुखी बुआइ या बिना पलेवा की बुआइ एक ऐसी तकनीक है जो की सबसे अधिक किसानों के द्वारा अपने जा रही है, तथा इसका लाभ भी देखने को मिल रहा है.
इस तकनीक में, सबसे पहले खेत तैयार करके खाद डाल के (ड्रिल करके) बीज की बुआइ की जाती है, उसके बाद पहली सिंचाई की जाती है. इससे होने वाले लाभ निम् प्रकार हैं:
* समय की बचत: जब नाहर के चलने का समय की अनिशित्ता हो, या देर से चले, तौ इस विधि से समय की काफी बचत हो जाती है, क्योंकि, पानी की उपलब्धता के अनुसार तुरंत बुआइ की जा सकती है, अन्यथा पलेवा के ८ से १२ दिन के बाद ही बुआइ जा सकती है
* चूँकि पलेवा की स्थिति में भूमि में उपलब्ध खरपतवार के बीज पलेवा मिलते ही बढ़त शुरू कर देते हैं, जब तक फसल के पौध आने शुरू होते हैं, तब तक खरपतवार के पौधे १२-१५ दिन की बढ़त ले लेते हैं, एवं प्रतियोगिता में आगे रहते हुए फसल को नुकसान पहुंचाते हैं, सुखी बुआइ वाले खेतों में खरपतवार की बढ़त हमेशा पलेवा वाले खेतों से कम पाई गयी है
* पलेवा के बाद भूमि में अनियमित नमी फसल के अनियमित विकास के लिए जिम्मेदार होती है, जबकि, सुखी बुआइ वाले खेतों में फसल अधिक व एक सामान होती है
इस बार इस दिशा में भी प्रयास किये गए की कम पानी वाली फसलों को बढ़ावा दिया जा सके. इस रूप में जौ की फसल को बढ़ावा दिया गया, जिसमे की दो सिंचाई की ही जरूरत होती है व उत्पादन गेहोंन के सामान होता है
जैसा की किसानों से बात करके पता चला की किसान नयी बीजों के बारे में भी काफी उत्साहित रहे. नयी बीज के प्रकार जो की जमने दो साल पहले केवल ७-८ किसानों को उपलभध कराये थे, आज कम से कम २५० हा की भूमि में फ़ैल गया हे.
आप लोगों से कुछ तकनिकी जानकारी बाँटने के क्रम में आपको जानकारी पसंद आयेगी, तथा इसके इस्तेमाल के लिए ये जानकारी एक साधन बनेगी, ऐसे हमारी आशा है.
आपका अपना,
सोनल कुलश्रेष्ठ
बुंदेलखंड ज्ञान मंच
व्व्व.ब्क्पिन्डिया.net

BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
आप सभी को होली के पवन पर्व की शुबकामनाएं भी प्रेषित हैं.
इस बार हम आपसे क्षमा भी मांगना चाहेंगे की कुछ तकनिकी समस्याओं की वजह से हम पिछली बार आपसे संपर्क नहीं कर सके.
आज हमारी एक साथी सुतुल श्रीवास्तव शुभ कल कार्यक्रम के बारे में कुछ बताना चाहती हैं. हमारी आपसे प्रार्थना है की अपने विचार रख कर इस मंच को सार्थक रूप प्रदान करें.
भवदीय
सोनल कुलश्रेष्ठ.

शुभ कल
रुरल रिअलिटी शो फॉर कैटेलासिंग लार्ज स्केल क्लाइमेट चेंज
" जब हमारे गाँव में पानी होगा खेतो में वर्षो लहलहाती फसल होगी , घरो के आंगन में हरियाली होगी तभी हमारा कल शुभ होगा I तभी हमारे बच्चो को स्कूल, रोजगार, सुख एवं शांति हमारे गाँव में मिल पायेगी और हमारा कल शुभ होगा कहलायेगा


एसा कहना है राजाराम जी (सीतापुर ) का.....................

इसी शुभ कल को लाने के लिए सरकारी तथा गैर सरकारी अनेक प्रयास किये गए कुछ प्रयास सार्थक हुए और कुछ बिना किसी प्रभाव के समाप्त हो गए I जब इनकी सफलता और असफलता को जानने का प्रयास किया गया तो यह पाया गया की जिन कार्यक्रमों ने व्यक्तिगत व्यवहार परिवर्तन के पक्ष में काम किया कुछ हद तक कामयाब हुए और दूसरी और जिन कार्यक्रमों में ज्ञान व शिक्षा को आधार बना कर काम किया वो भी कुछ ही हद तक कामयाब हुए परन्तु जब इन शिक्षा तथा व्यवहार परिवर्तन आधारित कार्यक्रमों की सामाजिक तथा आर्थिक पहलूओं से तौला गया I तो उनकी सफलता का अकड़ा काफी काम प्रतीत हुआ और आवश्यकता नज़र आयी ऐसे कदम की जो इन दोनों पहलूँ पे खरा उतरे I

यदि हम अन्य पहूलं को देखे तो यह स्पष्ट नज़र आता है की जहा एक और विज्ञानं नई नई खोज करता जा रहा है वही एक बड़ा तबका इन खोजो से अनभिज्ञ है Iऔर दयनीय से दयनीय परिस्थितयों ने जीवन यापन को मजबूर है इन तर्कों के आधार पर तो एसा प्रतीत होता है की क्या राजा राम जी जैसे लोगो का " शुभ कल स्वप्न " पर प्रश्न चिन्ह लगता है I

राजा राम जैसे लोगो का स्वप्न पूरा करने तथा बुंदेलखंड की बदहाली को ध्यान रखते हुए Development Alertnatives ने शुभ कल अभियान शुरू किया I शुभ कल अभियान की उत्पत्ति तथा प्रारंभिक कार्यो को हमने पिछले पत्र में देखा है वर्त्तमान पत्र द्वारा हम शुभ कल के वर्त्तमान परिदृश्य को जानने का प्रयास करेंगे I

" कौन बनेगा शुभ कल लीडर" रुरल रिअलिटी शो फॉर कैटेलासिंग लार्ज स्केल क्लाइमेट चेंज" कार्यक्रम शुभ कल अभियान का तीसरा चरण है I पूर्वकार्यक्रमों की सफलता तथा असफलताओं को ध्यान में रखते हुए इस कार्यक्रम को लाया गया I

यह कार्यकर्म ग्रामीण विकास के इतिहास में अनोखे अविष्कार के रूप में देखा जा रहा है i इस विचारधारा को वर्ल्ड बैंक डेव्लोप्मेंट मार्केट पलेस द्वारा वर्ष 2009 में मोस्ट इनोवेटिव आइडिया के पुरस्कार से पुरस्कृत किया गया यह अनूठी पहल मनोरंजन तथा शिक्षा का मिश्रण है I जहा एक ओर यह कार्यकर्म युवाओं के मन पसंद रिअलिटी शो को अपनाये हुए है I वाही दूसरी ओर प्रतियोगिता के माध्यम से जलवायु परिवर्तन के ज्ञान या जानकारियों को प्रसारित करने का पूरा प्रयास का रही है I
"कौन बनेगा शुभ कल लीडर " प्रतियोगिता बुंदेलखंड के टीकमगड तथा झाँसी जिले के 100 गाँव में आयोजित की जा रही है I प्रतियोगिता ग्रामीण युवाओं तथा महिलाओं को केंद्र कर सभी ग्रामीणों को इसमें प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से शामिल कर रही है I इस प्रतियोगोता को रेडियो बुंदेलखंड तथा विलेज रिसोर्स सेंटर द्वारा जीवंत प्रसारित किया जा रहा है I इस प्रतियोगिता का आरंभ झाँसी में आयोजित प्रेस वार्ता द्वारा २७ सितम्बर को किया गया I विकास कार्य में अनूठी पहल के कारण अघिकांश समाचार पत्रों द्वारा इसको प्रकाशित किया गया I

प्रस्तुत प्रतियोगिता ग्रामीणों तथा प्रतिभागियों को प्रेरित करती है की वह अपने दैनिक कार्यों में उन कार्य विधियों तथा उपायों को अपनाये जो की पर्यावरण अनुकूल है तथा पर्यावरण के विपरीत प्रभावों को कम करने में सहायक है प्रतियोगिता उन साधारण उपायों को जैसे किचेन गार्डेन, केचुआ खाद, कृषि वानिकी तथा वर्षा जल संरक्षण उपायों को अपनाने का सन्देश देती है I
इस रिअलिटी शो "कौन बनेगा शुभ कल लीडर " के माध्यम से वर्त्तमान मनोरजन विधियों को अपना कर व्यतिगत व्यवहार परिवर्तन द्वारा जलवायु परिवर्तन के उपायों को प्रसारित और प्रचलित करना है I
प्रारंभिक स्तर पे "कौन बनेगा शुभ कल लीडर " कार्यकर्म अपनी उम्मीदों
पे खरा उतरता नज़र आ रहा है परंतु यह प्रयास हमारे समक्ष कुछ प्रश्न
छोड़ता है जैसे -
क्या इस प्रकार के प्रयास राजाराम जी जैसे ग्रामीणों के शुभ कल स्वप्न
पुरा करने में सहयोग दे पायेगे
यदि आपके द्वारा इस प्रकार का कोई कदम उठाया गया है तो हमें आपके अनुभव
जन कर अत्यंत हर्ष होगा
आपके विचारों को हम सादर आमंत्रित करते है
सुतुल श्रीवास्तव ,

BKP Alert

प्रिय साथियों,

नव वर्ष की आप सभी को शुभकामनायें , आशा है नया साल आप सभी के लिए मंगलकारी होगा
इस वर्ष को आपके लिए और समुदाय के लिए मंगलकारी करने के लिए हम आपके साथ कुछ जानकारी बाँटना चाहते हैं.
NABARD, राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक ग्रामीण क्षेत्रों के लिए अनेक कार्यक्रम चलता है, इनमे से एक है ग्राम विकास कार्यक्रम (Village Development Programme, VDP). यह कार्यक्रम हमारी जैसी संस्थाओं को ग्राम विकास के लिए एक मौका प्रदान करता है.
इस कार्यक्रम के लिए हम आपको एक लिंक प्रेषित कर रहे हैं.

http://www.nabard.org/farm_sector/vdp.asp

इस लिंक पर आपको सम्पूर्ण जानकारी मिलेगी.
इस कार्यक्रम का लाभ लेने के लिए अगर आप और कुछ जानकारी चाहें तो हमसे संपर्क कर सकते हैं.
भवदीय,
सोनल कुलश्रेष्ठ
बुंदेलखंड ज्ञान मंच

 

BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
आज हम आपके साथ २० अक्टूबर, २०११ को ताराग्राम में आयोजित वर्कशॉप की proceedings भेज रहे हैं. इसके साथ ही हम आपके साथ एक लिंक और भेज रहे हैं.

http://www.sustainet.org/download/Adaptation-in-India_long.pdf

यह एक डोक्योमेंट है जिसमे बहुत ही विस्तार से जलवायु परिवर्तन अनुकूलन के लिए समुदायों के स्वतः प्रयासों,की चर्चा की गयी है, विभिन्न राज्यों की case studies इसमें दी गयी हैं. जिनमें राजस्थान, आंध्र प्रदेश, उत्तराखंड, उढ़ीसा, तथा महाराष्ट्र शामिल हैं. आज इस प्रलेख को आपसे बाँटने का उद्देश्य जलवायु परिवर्तन के समुदायों पर पढ़ने वाले प्रभावों की बारीकियां वर्णित की गयी हैं. यह जानकारी हमारी इस बारे में समझ बढ़ा कर अपनी गतिविधियों की सही दिशा तय करने में मदद करेगा. विस्तृत वर्णन तथा बारीकियों वाले mails की श्रेणी में ये एक और कढ़ी है. जिसमे बहुत तकनिकी जानकारी नहीं होते हुए भी, हमारी समझ को विस्तृत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा, ऐसा हमारा विश्वास है.

    Workshop Proceedings

भवदीय,
सोनल कुलश्रेष्ठ
बुंदेलखंड ज्ञान मंच

 

BKP Alert

सभी साथियों को नमस्कार,
२० अक्टूबर को मंच की हुई बैठक में हमारे साथियों ने इस बात पर जोर दिया था की कुछ तकनिकी बातों को भी इस कड़ी में जोड़ा जाये. आज इस श्रंखला की शुरुआत हम "जलवायु परिवर्तन" से कर रहे हैं. अगली बार से हम देखेंगे की हमारा तथा हमारी गतिविधियों का जलवायु परिवर्तन से कैसे सम्बन्ध है. तथा हमारे क्रिया कलाप किस प्रकार हैं. इस बार बेहद ही मूल विषय से प्रारंभ कर हम धीरे धीरे गूड़ विषयों पर तथा इनकी Application पर ध्यान देंगे. धन्यवाद

भवदीय
सोनल कुलश्रेष्ठ
बुंदेलखंड ज्ञानं मंच.

जलवायु परिवर्तन क्या है और हमसे कैसे संबधित है
जलवायु परिवर्तन एक वैज्ञानिक अवधारणा है, जिसमे निम्नलिखित बिंदु मुख्य रूप से हैं
वातावरण की कुछ गैसें जैसे की कार्बन- डाई- ऑक्साइड सूर्य की किरणों को, जो की अधिक आव्रत्ति वाली होती हैं अपने में से गुजर जाने देती हैं. लेकिन यही गैसें धरती द्वारा विकिरित कम आव्रत्ति वाले विकिरण को गुजरने नहीं देती, फलता ये गैसें स्वयं गर्म हो जाती हैं तथा वातावरण में गर्मीं की अधिकता लगातार रूप से करती रहती हैं. वास्तव में यही प्रक्रिया हमारी पृथ्वी पर जीवन को बनाये रखने के लिए भी जिम्मेदार है, अन्यथा, धरती का तापमान इतना कम होता की धरतीवासी शायद इस पर रह ही नहीं पाते,. परंतू जब वातावरण में इन गैसों की मात्रा बढ जाती है तो तापमान में अधिकता भी बढती जाती है जिसे हम लोग आम भाषा में "Global Warming" के नाम से भी जानते हैं.

जब वातावरण का तापमान बढ जाता है, जो की सभी जगह समान रूप से नहीं बढता, प्रकृति में कई परिवर्तन पैदा करता है. कुछ जगह ग्लाशिएर पिघलने लगते हैं, जिसकी वजह से नदियों , नालों में बाढ़ आने की सम्भावना बढ जाती है, समुद्र में जल स्तर बढ सकता है, कुछ स्थानों अधिक तापमान से कम दबाव का क्षेत्र हो जाता है तौ वर्षा की सम्भावना बढ जाती है तौ अन्य स्थानों पर वर्षा बहुत कम हो जाती है.

यही जलवायु मैं असाधारण बदलाव ही जलवायु परिवर्तन कहलाते हैं.

जलवायु परिवर्तन के दो पहलु हैं,

1.  जलवायु परिवर्तन के कारणों को समझना और दूर करना , जो की "Climate Change Mitigation" कहलाता है,

2. जलवायु परिवर्तन से होने वाले नुकसानों से बचना , अथवा खुद को इसके अनुकूल ढालना . जलवायु अनुकूलन "Climate Change Adaptation" कहते हैं.. वास्तव में ज्जल्वायु परिवर्तन का सबसा अधिक प्रभाव भी कृषि पर सबसे अधिक होता है.. साथ ही कृषि ही इन सब कारणों में से एक है जो की ऐसी गैसें पैदा करती है जो की Global Warming का कारण बनती हैं

आम तौर पर अधिक उर्जा की खपत को गैसों के उत्सर्जन से सीधे जोड़ा जा सकता है


BKP Alert
सभी साथियों को नमस्कार,
आशा है की हमारे साथियों ने पिछली बार की जानकारी को उन साथियों तक पहुँचाया होजिन्हें इसकी आवश्यकता होगी. आज हम आप सभी को बुंदेलखंड ज्ञान मंच के अंतर्गत कुछ जिलों की ग्रामीण विकास संस्थाओं की एक Workshop में भाग लिया. यह workshop "New Approaches on Climate Resilient Growth for Semi Arid Region" का आयोजन किया गया. इस बैठा में डेवलपमेंट आल्टरनेटिव्स के द्वारा जलवायु परिवर्तन सम्बंधित कार्य के अनुभवों को सभी के sath शेयर किया गया. इसके साथ ही आगे की कार्य योजना के बारे में भी चर्चा की गयी. आज हम आपके साथ एक document बाँटेंगे.

आप सभी से अनुरोध है की इस पर अपने feedback अवश्य दें क्योंकि ये document आगे की रूपरेखा तय करने में महत्वपूर्ण role निभायंगा .

इस workshop में यह भी भावना व्यक्त की गयी की इस मंच पर तकनिकी और micro level की जानकारी होनी है. इस सुझाव को हम शामिल करने का प्रयास करेंगे.

आप सभी को आने वाले पर्व की ढेरों शुभकामनायें

भवदीय
सोनल कुलश्रेष्ठ - October 28, 2011
बुंदेलखंड ज्ञान मंच

BKP Alert
सभी साथियों को नमस्कार,
सभी को प्रथम उपराष्ट्रपति अवं द्वितीय राष्ट्रपति डॉ सर्वोपल्ली राधाकृष्णन के जन्मदिवस एवं शिक्षक दिवस की शुभकामनायें!
बुंदेलखंड क्षेत्र में हम सभो लोग कुछ वर्षों से मुश्किलों से जूझ रहे थे. इस वर्ष ऐसा लगता है की प्रकृति के साथ देने की वजह से हमारे वो साथी जो सबसे पहले प्रकृति प्रदत्त मुश्किलों के शिकार होते थे, इस वर्ष कुछ आराम से हैं. ऐसे समय में हम सभी बुंदेलखंड वासियों और विशेषकर समाजसेवी संस्थाओं तथा सरकार से जुड़े साथिओं का अनुभव बताता है की मुश्किल समय में इस तरह के उद्देश्य और मुश्किल हो जाते हैं, जिनके तहत हम ऐसे समुदायों की मदद करना चाहते हैं.

यह जानते हुए हमारा दायित्व बनता है की हम जिन marginalized समुदायों के साथ उनको विकास धारा से जोड़ने के जिस उद्देश्य से कार्य करते हैं, उसमे तेजी लाते हुए उन समुदायों को मजबूत बनायें ताकि वे जलवायु परिवर्तन के असर को झेलने में और समर्थ हो सकें तथा जिसे हम लोग जलवायु अनुकूलन कहते हैं वो भी इसमें शामिल हो अनदेखे मुश्किल समय का मजबूती से सामना कर सकें.

इस उद्देश्य के लिए हम सरकार के प्रयासों के सहभागी हो कर भी अपने कुछ भागीदारी निभा सकते हैं.
बुंदेलखंड क्षेत्र से संदर्भित सरकारी योजनाओं के बारे में जानकारी कुछ websites पर उपलब्ध है. ऐसी ही एक website का लिंक निचे दिया गया है:
http://bundelkhandinfo.org/development/development/development_scheme.html
आप सभी साथिओं से अनुरोध है, की इस मंच को एक तरफ़ा संवाद न रहने दें. आप सभी अपने अपने अनुभव तथा ज्ञान से हम सभी को संवर्धित करें.
इस बार आपके प्रयासों के बारे में आपके संवाद की प्रतीक्षा में,
आपका साथी
सोनल कुलश्रेष्ठ - September 05, 2011
बुंदेलखंड ज्ञान मंच
more »

BKP Alert
सभी साथियों को नमस्कार,
आज हम फिर आपके साथ हैं, बुंदेलखंड की कुछ और कुछ अनजानी कुछ कम जनि कुछ जनि मणि बटों को लेकर. योजना आयोग ने बुंदेलखंड के बारे में एक रिपोर्ट निकली है, जो हमें बुंदेलखंड को समझने में और मदद देगा. आप सभी से अनुरोध है, के इस रिपोर्ट को पढ़े बुन्देल्कन को विस्तृत रूप दे जाने और अपनी कार्य योजनाओं को मूर्त रूप दे सकें. भवदीय, more »
सोनल कुलश्रेष्ठ - Aug 29 - 2011

BKP Alert
सभी साथियों को नमस्कार, इस वर्ष कुछ संतोष का विषय है की बुंदेलखंड क्षेत्र में वर्षा पर्याप्त मात्रा मैं हो रही है. इस बार की वर्षा ने पिछले ५-६ सालों के दुखद अनुभवों को भुलाने... more »
By Sonal Kulshreshtha - Aug 6 - 2011

Fortnightly Alert
सभी साथियों को नमस्कार, बुंदेलखंड विकास के जिस उद्दयिश्य के लिए हम सभी एक मंच पर एकत्रित हुए हैं, उसी उद्देश्य के लिए छतरपुर ९,व १० जुलाई को एक अधिवेशन आयोजित हो रहा है. इस... more » more »
By Sonal Kulshreshtha - Jul 6 - 2011

Fortnightly Alert
सभी साथीयों को मेरा नमस्कार, कुछ दिनों पूर्व एक बैठक में मुझे कुछ विकास के भगीदार संस्थाओं के प्रतिनिध्यिओन के साथ बात्ची का अवसर मिला. सभी संस्थाएं बुन्देलखंड के अलग अलग... more »
By Sonal Kulshreshtha - Jun 21 - 2011

Fortnightly Alert
सभी साथीयों को मेरा नमस्कार, कुछ दिनों पूर्व एक बैठक में मुझे कुछ विकास के भगीदार संस्थाओं के प्रतिनिध्यिओन के साथ बात्ची का अवसर मिला. सभी संस्थाएं बुन्देलखंड के अलग अलग... more »
By Sonal Kulshreshtha - Jun 21 - 2011

Fortnightly Alert
नमस्कार साथियों, आज विश्व पर्यावरण दिवस पर आप सभी को शुभकामनायें. आज का दिन पर्यावरण सहायक गतिविधयों के लिए विशेष दिन है. अधिक जानकारी के लिए क्लिक करें इस लिंक पर... more »
By Sonal Kulshreshtha - Jun 5 - 2011

Fortnightly Alert- BKP
प्रिय साथियों, सभी को बुंदेलखंड विकास मंच की तरफ से शुभकामनायें! पिछली बार हमने आपके साथ कुछ जलवायु परिवर्तन के बारे में कुछ जानकारी दी थी,... more »
By Sonal Kulshreshtha - Apr 20 - 2011

Fortnightly Alert
बुंदेलखंड विकास के सभी सहभागियों को हमारी शुभकामनाएं, आज हम लोग जलवायु परिवर्तन के प्रभावों को अलग अलग रूप से महसूस कर रहे हैं.... more »
By Sonal Kulshreshtha - Apr 5 - 2011

Fortnightly Alert
आप सभी को होली की बहुत बहुत शुभकामनायें, आशा है की होली का त्यौहार बहुत ही अच्छी तरह से बीता होगा, और रंगों की बोछार आपकी जिंदगी में भी खुशियों के रंग भर देगी. साथ ही हम ये भी दुआ करते हैं यह... more »
By Sonal Kulshreshtha - Mar, 20 - 2011

Fortnightly Alert
सभी साथीओं को अभिवादन, जलवायु परिवर्तन को आज हम अलग अलग घटनाओं (events ) के रूप में सभी महसूस करते हैं. परन्तु उसके प्रभाव कितने दूरगामी हो सकते हैं यह हम नहीं सोच पते हैं.... more »
By Sonal Kulshreshtha - Mar, 5 - 2011

Fortnightly Alert
सभी बुंदेलखंड विकास मंच के सत्यों को नमस्कार, हर बार की तरह आज बजी हम अप सबसे एक बार फिर रूबरू हैं, कुछ बातें लेकर. और हर... more » more »
By Sonal Kulshreshtha - Feb, 20 - 2011

Update for 5th February
प्रिय साथी गणों सभी को मेरी शुभकामनायें, कृपया निचे दिए गए पत्र को देखें जो हमें Development Alternatives के साथी श्री मुस्तफा अली जी ने भेजा है,... more » more »
By Sonal Kulshreshtha - Feb, 1 - 2011

Invitation for Workshop
Workshop on Micro Credit on Sustainable Livelihoods ...by National Agricultural Bank and Rural Development (NABARD) & Development Alternatives (DA) on 28th January 2011, at conference hall, Collector office, Tikamgarh. *When* Fri, January 28, 11am – 2pm GMT+05:30 *Where* Conference hall, Collector office, Tikamgarh.... more » more »
By Sonal Kulshreshtha - Jan, 24 - 2011

Invitation for Workshop
Workshop on Micro Credit on Sustainable Livelihoods ...by National Agricultural Bank and Rural Development (NABARD) & Development Alternatives (DA) on 28th January 2011, at conference hall, Collector office, Tikamgarh. *When* Fri, January 28, 11am – 2pm GMT+05:30 *Where* Conference hall, Collector office, Tikamgarh.... more » more »
By Sonal Kulshreshtha - Jan, 24 - 2011

Fortnightly Alert
Dear Partners, *Greetings from Bundelkhand Knowledge Platform. * We are back again. This time in addition to the regular sharing we will also share information about a event. Last time we have requested to contribute more in the Platform, I also have came across a few of the responses which unfortunately we are unable to share with all as they totally are out of the... more » more »
By Sonal Kulshreshtha - Jan, 20 - 2011

Fortnightly Alert
Dear Partners, Wishing You all a Very Happy New Year. Last time we have shared that how the farmers can address the global environmental challenge like Climate Change. This time we are sharing the ways to do the same. In the two articles attached, in one you will find that how the capacity building activities can help us to achieve the objectives,... more »
By Sonal Kulshreshtha - Jan, 5 - 2011

Wishing Happy New Year and requesting participation
Dear Partners, Wishing You all a Very Happy New Year 2011. I also wish that we together will grow and strengthen our network and capacities. About 15 days are going to pass after our first alert. We are going to issue another alert on 5th of January. I request you all to participate and share your experiences and lessons/ case studies which surely will help... more » more »
By Sonal Kulshreshtha - Jan, 3 - 2011

Climate Change and Agriculture
Dear Partners, As per promise we are starting to share experiences in Bundelkhand, this time related to agriculture and climate change. We invite your feedback inputs suggestions and new experiences also. I am sure this is just going to be a enriching experience and discussion forum for all of us.... more » more »
By Sonal Kulshreshtha - Dec 20 2010

Discussions
Events
Bundelkhand Region
Initiatives
Feedback
Home |  PhotosVideosPartnersStakeholdersContact usFeedback
Copyright © 2011 Development Alternatives